आखिरी जून तक नहीं हुई बारिश तो शहरवासियों को उठानी होगी मुसीबत...जानिए कारण

आखिरी जून तक नहीं हुई बारिश तो शहरवासियों को उठानी होगी मुसीबत...जानिए कारण
Katni river's low water level

Mukesh Tiwari | Updated: 15 May 2019, 12:23:38 PM (IST) Katni, Katni, Madhya Pradesh, India

बैराज का घटा जलस्तर, अब खदानों का लिया जा रहा सहारा, बारिश में देरी हुई तो बढ़ जाएगी लोगों की मुसीबत, निगम के बाहरी क्षेत्रों में टैंकरों से भी आपूर्ति

कटनी. शहर मेंं जनवरी माह से ही पेयजल संकट की आहट शुरू हो गई थी। अभी गर्मी का लगभग दो माह का समय बाकी है और संकट गहराने लगा है। कटनी नदी के बैराज में जनवरी में जलस्तर तेजी से घटने के कारण नगर निगम ने शहर में एक समय जलापूर्ति शुरू कर दी थी और अब बैराज में पानी की कमी आ जाने से खदानों का सहारा लेना निगम ने शुरू कर दिया है। अनुमान है कि जून के अंतिम सप्ताह तक बैराज में बचे पानी व खदानों से आपूर्ति एक समय हो पाएगी लेकिन मानसून में देरी होती है तो लोगों की समस्या बढ़ सकती है। शहर में प्रतिदिन 32 एमडी पानी की आवश्यकता है, जिसके एवज में पिछले चार माह से नगर निगम एक समय में मात्र 18 एमडी पानी ही उपलब्ध करा पा रहा है।
कटनी नदी के अमकुही स्थित बैराज में वर्तमान में 1.8 एमसीएम पानी शेष बचा है और तेजी से घटते जलस्तर के कारण निगम ने छपरवाह, कंचन खदान व विश्वकर्मा खदान से सप्लाई की तैयारी शुरू कर दी गई है। जिसमें से छपरवाह के पास की खदान से पानी लेना भी निगम ने शुरू कर दिया है।
शहर के वार्ड क्रमांक 1 व 2 के अलावा अमीरगंज, ङ्क्षझझरी व बाहरी वार्डों में हैंडपंपों व नलकूलपों का जलस्तर भी गिरा है। हैंडपंपों में पानी पीने योग्य न होने से लोगों को पीने के लिए जरूरत के हिसाब से टैंकर से पानी पहुंचाया जा रहा है तो हैंडपंप के पानी का उपयोग लोगों को निस्तार में करने की सलाह भी दी जा रही है।
नलकूपों का भी शुरू किया खनन
नगर निगम ने सीमा क्षेत्र के 45 वार्डों में आवश्यकतानुसार नलकूपों की भी स्वीकृति दी है। जिसमें 50 स्थानों में नलकूपों का खनन प्रारंभ किया गया है। आचार संहिता प्रभावी होने से पूर्व में सिर्फ 9 नलकूपों का खनन हो पाया था। अब शेष स्थानों पर भी खनन प्रारंभ कराया गया है लेकिन उनका जल्द लाभ भी लोगों को नहीं मिल पाएगा।
इनका कहना है...
कटनी नदी के बैराज में जलस्तर घटा है। लोगों को पर्याप्त पानी मिले, इसके लिए इंतजाम किए गए हैं। खदानोंं से पानी लेने का काम प्रारंभ कर दिया गया है और नलकूपों का भी खनन जारी है। जहां पर जरूरत है, वहां टैंकरों से भी पानी पहुंचाया जा रहा है। शहर को 30 जून तक पानी की सप्लाई की व्यवस्था निगम के पास है।
सुधीर मिश्रा, सहायक यंत्री जलप्रदाय विभाग

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned