रीठी रेलवे स्टेशन परिसर में दर्जनों कौवों की अचानक मौत, वन विभाग ने अपने सुपुर्द में लेकर शुरू की जांच

कोरोना वायरस के संक्रमण से जहां दुनिया में हाहाकार मचा हुआ है। हर आम और खास परेशान है। लॉकडाउन बढ़ता जा रहा है। संक्रमण के खौफ के असर के बीच रीठी रेलवे स्टेशन परिसर में एक चौकाने वाला मामला सामने आया है। यहां पर दो-तीन दिनों से रीठी रेलवे स्टेशन के पास लगे बगीचे में रह रहे कौवों की अचानक मौत हो रही है।

कटनी. कोरोना वायरस के संक्रमण से जहां दुनिया में हाहाकार मचा हुआ है। हर आम और खास परेशान है। लॉकडाउन बढ़ता जा रहा है। संक्रमण के खौफ के असर के बीच रीठी रेलवे स्टेशन परिसर में एक चौकाने वाला मामला सामने आया है। यहां पर दो-तीन दिनों से रीठी रेलवे स्टेशन के पास लगे बगीचे में रह रहे कौवों की अचानक मौत हो रही है। एक-एक करके जमीन पर गिरते हैं और उडऩे की कोशिश करते-करते अपना दम तोड़ देते हैं। कौवों की मौत को लेकर लोग किसी बीमारी की आशंका जता रहे हैं। स्थानीय लोगों द्वारा इसकी सूचना अमले को दी गई। सूचना मिलने पर वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची। देखा तो जगह-जगह कई कौवे जमीन पर मृत पड़े थे। वन विभाग से आये हुए कर्मचारियों ने सभी मृत पड़े कौवा को एकत्रित कर पीएम के लिए भेजा। जिससे पता चल सके कि आखिरकार इन कौवों के मौत का कारण क्या है। स्थानीय युवक लखन कुमार बर्मन ने कहा कि दो तीन में लगातार मौत हो रही है। ऐसा लग रहा है की कोई बीमारी उत्पन्न हो रही है। वन विभाग को इनकी सुरक्षा के लिए आगे आना चाहिए, ताकि आम नागरिकों की सुरक्षा हो सके। सनोज कोल ने बताया कि मौके से 15 कौवा मरे मिले हैं। विटनरी चिकित्सक को जांच के लिए भेजा गया है।

इनका कहना है
रीठी स्टेशन के आसपास दो-तीन दिन से लगातार कौवों की मौत हो रही है। वन विभाग को जानकारी दी है। जांच कराकर कार्रवाई होनी चाहिए। इनमें किसी वायरस का संक्रमण लग रहा है।
पीसी मीड़ा, रेलवे स्टेशन मास्टर, रीठी।

रीठी में बड़ी संख्या में कौवों की मौत की जानकारी लगी है। स्टॉफ को भेजकर उनको मंगाया गया है। चिकित्सा अधिकारी से जांच कराई जाएगी। जांच रिपोर्ट के बाद यह पता चलेगा कि पक्षियों को कौन से बीमारी है।
डीएम शर्मा, रेंजर रीठी।

अर्जुन के पेड़ में बैठे कौवों की मौत हुई है। 15 से अधिक कौवों की मौत की सूचना मिली है। जांच कराई जा रही है। सेम्पल भी जांच के लिए जबलपुर लैब भेजा जाएगा। शीघ्र ही मौत के कारणों का पता लगाया जाएगा।
राकेश राय, डीएफओ कटनी।

balmeek pandey Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned