जानिए किस तरह से गढ़ा जा रहा कक्षा 3 से 8 वीं के छात्रों का भविष्य

स्कूल खुलने के पांच दिन बाद भी नहीं पहुंची चार ब्लॉकों में गणित व अंग्रेजी की पुस्तकें, जिम्मेदार बोले-डिपो से नहीं आई किताबें

 

By: dharmendra pandey

Published: 30 Jun 2019, 10:44 AM IST

कटनी. जिले के सरकारी स्कूलों में कक्षा 3वीं से 8वीं के छात्रों का भविष्य बिना किताब के ही गढ़ा जा रहा हैं। स्कूल खुलने के पांच दिन बाद भी जिले के चार विकासखंड़ों में कई विषयों की पुस्तकें नहीं पहुंच पाई हैं। पुस्तकों की लेटलतीफी को लेकर राज्य शिक्षा केंद्र के जिले के अफसरों द्वारा भोपाल व जबलपुर से सप्लाई न कराए जाने का कारण बताया जा रहा हैं। उल्लेखनीय है कि जिले में नवीन शिक्षण सत्र 2019-20 की 24 जून से शुरुआत हो गई हैं। स्कूलों को खुले हुए 5 दिन से अधिक का समय बीत गया है, इसके बाद भी बड़वारा, ढीमरखेड़ा, बहोरीबंद व कटनी ब्लॉक की सरकारी स्कूलों में गणित व अंग्रेजी की विषय की पढ़ाई नहीं हो पा रही है। क्योंकि इन ब्लॉक की स्कूलों में दोनों विषयों की पुस्तकें नहीं पहुंची हैं।

जिले में 1823 हैं प्राइमरी व मिडिल स्कूल
जिले में 1823 प्राइमरी व मिडिल स्कूल संचालित हैं। इसमें 1295 प्राइमरी व 528 मिडिल स्कूल हैं। इन स्कूलों में 1 लाख 40 हजार से अधिक विद्यार्थियों की संख्या दर्ज हैं। स्कूलों में पुस्तकों के समय पर नहीं पहुंचने से विद्यार्थियों की पढ़ाई का नुकसान हो रहा है।

इन विषयों की नहीं पहुंची किताबें
-बड़वारा और ढीमरखेड़ा ब्लॉक में कक्षा 6वीं में गणित की किताब नहीं पहुंची हैं।
-बहोरीबंद ब्लॉक में कक्षा 3 व 8वीं की गणित व कक्षा 4वीं में अंग्रेजी की पुस्तक नहीं है।
-ढीमरखेड़ा व कटनी ब्लॉक में कक्षा 3 व 6 वीं में गणित की किताब नहीं हैं।

-राज्य शिक्षा केंद्र द्वारा पाठ्य पुस्तक निगम जबलपुर से किताबों को पहुंचाया जाता है। अभी डिपो से किताब नहीं आ पाई हैं। जैसे ही पुस्तकें आ जाएंगी, छात्रों को वितरित कर दिया जाएगा।
एसएन पांडे, प्रभारी डीपीसी।
.

dharmendra pandey Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned