राज्यमंत्री के सामने किसानों ने खोली गेहूं खरीदी घोटाले की पोल, आनन-फानन में मंत्री ने कलेक्टर को दिए जांच कराने के आदेश, देखें वीडियो

राज्यमंत्री के सामने किसानों ने खोली गेहूं खरीदी घोटाले की पोल, आनन-फानन में मंत्री ने कलेक्टर को दिए जांच कराने के आदेश, देखें वीडियो

Balmeek Pandey | Publish: Sep, 02 2018 04:20:52 PM (IST) | Updated: Sep, 02 2018 04:22:47 PM (IST) Katni, Madhya Pradesh, India

बरही तहसील क्षेत्र के खितौली में जनकल्याण शिविर का आयोजन, 15 दिन में निपटाई जाएं किसानों की समस्याएं, टीम गठित कर करें घोटालों की जांच, मौके पर सुनी 400 ग्रामीणों की समस्या

कटनी. बरही तहसील क्षेत्र के ग्राम खितौली स्थित शासकीय प्राइमरी/मिडिल स्कूल प्रांगण में लोक जनकल्याण शिविर का आयोजन किया गया। कार्यक्रम राज्यमंत्री संजय सत्येन्द्र की मुख्य उपस्थिति में हुआ। इस दौरान जनप्रतिनिधियों एवं जिले के आला अधिकारी कलेक्टर केवीएस चौधरी, एसपी मिथिलेश एवं डीएफओ तथा अन्य अधिकारियों एवं कर्मचारियों की उपस्थिति रही। शिविर में राजस्व विभाग, शिक्षा विभाग, विद्युत विभाग, ग्रामीण विकास विभाग व अन्य विभागों के स्टॉल लगाए गए और ग्रामीणों की समस्याएं सुनी गई। शिविर में राज्यमंत्री के निर्देश पर सोसायटी में हुए लाखों के घोटाले की जांच के लिए फेस-टू-फेस अधिकारियों के समक्ष किसानों की शिकायतें सुनीं। शिविर में किसानों और अधिकारियों को आमने-सामने बैठाकर जो वास्तविक किसान हैं और जो किसानों की एंट्री हुई है उनकी निष्पक्ष जांच के लिए मंत्री ने खाद्य विभाग के सभी अधिकारियों को आदेश दिए। कलेक्टर केवीएस चौधरी के समक्ष 15 दिवस के अंदर जांच करने के आदेश दिए। जितने भी किसान गेहूं बेचे हैं, जिनका पैसा रुका हुआ है उन सभी का निपटारा करने की बात कही। इसी दौरान एक किसान ने मंत्री व सभी अधिकारियों के समक्ष 4 सालों से की गई खितौली सोसायल में धान और गेंहू के फर्जी सिकमी खातों की जांच करने का मुद्दा उठाया। जिस पर मंत्री ने 15 दिनों के भीतर कलेक्टर से एक टीम गठित करके जांच कहा। उसकी रिपोर्ट मंत्री को प्रस्तुत करने को कहा।

शीघ्र कराएं भुगतान
दूसरी तरफ 25 मई की एंट्री के जितने भी किसानों के भुगतान रुके हुए हैं सही किसानों और फेंक किसानों के खातों में जो एंट्री हुई हैं उसकी गहन जांच करके सभी किसानों को 50 प्रतिशत भुगतान करने के आदेश दिए। जन लोक कल्याण शिविर में खितौली के खरीदी घोटाले का मुद्दा छाया रहा। सबसे ज्यादा शिकायतें खितौली खरीदी केंद्र व सोसाइटी की लगभग 50 से भी अधिक किसान मंत्री के समक्ष बैठकर अपनी समस्याएं और सरकार सहकारिता विभाग के सभी अधिकारियों का पर भ्रष्टाचार में लिप्त होने का आरोप लगाया। किसानों ने कहा कि हम 2 महीने से जांच के भरोसे ही बैठे हुए हैं। उसके बावजूद अधिकारियों ने सही जांच नहीं की। किसानों ने कलेक्टर से विनम्र आग्रह किया है यह हम 2 महीने से किसी तरह जीवन यापन कर रहे हैं कर लेंगे, लेकिन हम 1 महीने और रुक जाएंगे इसकी निष्पक्ष जांच करके सभी अधिकारियों वह संबंधित आरोपियों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाए। जिससे इस तरह की गलती दोबारा कभी किसानों के साथ ना की जाए। जितने भी फर्जी खाते में बोगस एंट्रियां हुई हैं उनकी जांच कर और जो सही किसान हैं उनका भुगतान कराया जाए।

दी सहायता राशि
ग्राम पंचायत खितौली में सीताबाई पति स्वर्गीय गिरधारी लाल की मृत्यु पर संबल योजना के तहत 5000 की अंत्येष्टि सहायता तत्काल दी गई। उसकी मृत्यु पर 2 लाख की सहायता राशि और दी जाएगी। शिविर में लगभग सभी विभागों को मिलाकर कुल मिलाकर 300 से 400 के बीच आवेदन आए जिन आवेदनों के निराकरण के लिए विभाग में सुरक्षित रखे गए। शिविर में ग्राम करेला की सबसे ज्यादा समस्याएं पीएम आवास की मजदूरी का भुगतान ना होने व शौचालयों के भुगतान के कारण ग्राम पंचायत करेला के सरपंच व सचिव को उनकी भुगतान का निराकरण करने के आदेश दिए गए। दूसरी तरफ शिविर का संचालन होने तक खितौली के मेन रोड में दोनों छोर मैं बड़े वाहनों की कतार लग गई कम से कम दोनों और 25 से 30 वाहन की कतार लगी रही।

 

 

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned