बारह हजार से अधिक बाहर से आए, सैंपलिंग सिर्फ एक की

प्रदेश से बाहर आने वालों में 90 ऐसे नागरिक भी शामिल जो विदेश से आए हैं.

By: raghavendra chaturvedi

Updated: 05 Apr 2020, 01:44 PM IST

कटनी. कोरोना के लगातार बढ़ते संक्रमण के बीच कटनी जिले में सैंपलिंग नहीं होने के बाद स्वास्थ्य विभाग और कोरोना को लेकर गठित रैपिड रिस्पांस टीम पर अब बेपरवाही के आरोप लग रहे हैं। यहां चार अप्रैल तक बाहर से आने वाले लोगों की संख्या 12 हजार 862 तक पहुंच गई। इसमें 90 ऐसे लोग भी शामिल हैं जो विदेशों से कटनी पहुंचे हैं। दूसरी ओर कोरोना को लेकर सैंपलिंग की संख्या शनिवार को भी एक से आगे नहीं बढ़ी।

यह एक सैंपल भी एक डॉक्टर का तब भेजा गया था जब उन्होंने भोपाल में कोविड 19 टीम के संपर्क में आने के बाद जांच के लिए स्वयं ही सैंपल जबलपुर भेजने की बात कही थी। दक्षिण कोरिया ने 4 लाख से ज्यादा कोरोना जांच कर ही इस महामारी पर काबू पाया है। ऐसे में कटनी में सैंपलिंग नहीं होने के बाद भविष्य में बड़े खतरे की आशंका जताई जा रही है।

मध्यप्रदेश का इंदौर और राजस्थान का भीलवाड़ा शहर कोरोना के हॉट प्वाइंटों में है। कटनी में इन दोनों ही शहरों से श्रमिक आए हैं। इनमें से कुछ यहीं रुक गए हैं, और कुछ दूसरे जिलों के लिए रवाना हो गए हैं। इन श्रमिकों में भी अब तक किसी की सैंपलिंग नहीं हुई है।

सीएमएचओ डॉ. एसके निगम बताते हैं कि कोरोना को लेकर सैंपलिंग शुरू करवा रहे हैं। पहले ट्रैवल हिस्ट्री वालों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजेंगे। इसके बाद इंदौर और भीलवाड़ा से आने वाले लोगों की सैंपलिंग की जाएगी।

Corona virus
raghavendra chaturvedi Bureau Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned