यहां सांस लेने में हजारों लोगों के मुंह से निकलती है राख!, हैरान कर देगी यह खबर, देखें वीडियो

सांस में शुद्ध हवा की जगह प्रवेश कर रही राख व बदबू, काम न मिलने और प्रीमियम फैक्ट्री पर प्रदूषण फैलाए जाने का लगाया आरोप

By: balmeek pandey

Updated: 25 Nov 2018, 10:53 PM IST

कटनी. काम नहीं तो वोट नहीं..., हर हाल में फैक्ट्री बंद होनी चाहिए, क्षेत्र में प्रदूषण पर तत्काल रोक लगना चाहिए, बीमारी से मुक्ति नहीं तो वोट नहीं...। इन नारों के साथ शनिवार को शहर के उनगरीय क्षेत्र स्थित बाबू जगजीवनराम वार्ड, श्यामा प्रसाद मुखर्जी वार्ड एवं शिवाजी के लोग मुखर हो गए। समस्याओं से परेशान होकर सभी ने एक स्वर में चुनाव के बहिष्कार का निर्णय ले लिया। इस दौरान वार्ड के लोगों ने प्रीमियर फैक्ट्री बंद करो के नारे लगाए। बोर्ड लगाकर बताया कि रहवासी क्षेत्र में ईंट और सीमेंट बनाने वाली, धुआं और डस्ट उगलने वाली इस प्रीमियम फैक्ट्री को तत्काल प्रभाव से बंद कराओ के नारे लगाए। उल्लेखनीय है कि जैसे-जैसे चुनाव का समय नजदीक आता जा रहा है वैसे-वैसे शहर के विभिन्न क्षेत्रों से लोग समस्याओं से परेशान होने के कारण चुनाव के बहिष्कार का निर्णय कर रहे हैं। इसके पूर्व मुड़वारा विधानसभा क्षेत्र से ही ग्राम मड़ई, शिवाजी नगर, निमिया मोहल्ला सहित अन्य क्षेत्रों में लोगों ने सड़क पर उतरकर विरोध प्रदर्शन किया है।

वार्ड के लोगों ने बयां किया दर्द
वार्ड के दयाशंकर दुबे ने कहा कि मकान पहले से बने थे इसके बाद भी रहवासी क्षेत्र में फैक्ट्री खुल गई। गरीब लोग किसी तरह से मकान बना पाए हैं। सुबह जब योग करते हैं या दिनभर सांस लेते हैं तो शुद्ध वायु की जगह राख और बदबू जाती है। कैसे व्यक्ति स्वच्छ और स्वस्थ रहेगा। शहर में कुछ लोग लक्ष्मी पुत्र हैं तो गरीबों पर अत्याचार नहीं करना चाहिए। वार्ड के रहवासियों, पार्षदों ने कई बार अधिकारियों से शिकायत की, प्रदूषण विभाग में भी शिकायत की है, लेकिन इस दिशा में कोई पहल नहीं की गई। जब कई बार कुल्ला करो तब राख और बदबू कम होती है।

दमा के बढ़ रहे मरीज
क्षेत्र की महिलाओं का आरोप है प्रीमियम फैक्ट्री से निकल रहे प्रदूषण व डस्ट के कारण लोगों को दमा होने की संभावना बढ़ गई है। महिला-पुरुषों और बच्चे को भी श्वांस की बीमारी हो गई है। लगातार संक्रमण के मरीज बढ़ रहे हैं, लेकिन सुनवाई नहीं हो रही। क्षेत्र के लोग मुखर हो गए और एक स्वर में कहा कि जबतक उनकी मांग पूरी नहीं होती, तबतक वे वोट करने नहीं जाएंगे।


इधर ग्रामीणों ने किया बहिष्कार
कटनी/खितौली. विधानसभा चुनाव के लिए मात्र दो दिन का समय शेष बचा और ऐसे में समस्याओं से जूझ रहे ग्रामीण भी मुखर हो गए हैं। एक ओर जहां जिला प्रशासन लोगों को शत-प्रतिशत मतदान करने के लिए प्रेरित कर हा है तो वहीं दूसरी ओर ग्रामीण चुनाव बहिष्कार का ऐलान कर रहे हैं। शनिवार को मुड़वारा विधानसभा के तीन वार्डों के लोगों ने प्रीमियम फैक्ट्री से फैल रहे प्रदूषण के कारण चुनाव के बहिष्कार का ऐलान किया तो वहीं रविवार को विजयराघवगढ़ विधानसभा क्षेत्र के ग्राम बरनमहगवां के लोगों ने जिला निर्वाचन अधिकारी को पत्र लिखकर और प्रदर्शन कर चुनाव का बहिष्कार करने ऐलान कर दिया है। ग्रामीणों ने चुनाव का बहिष्कार करने की कई वजहें बताईं। इस दौरान ग्रामीणों ने बताया कि ग्राम बरनमहगवां से टोला धनवाही की दूरी 5 किलोमीटर है। दूरी अधिक होने के कारण ग्रामीण विधानसभा, लोकसभा, पंचायतीराज में वोट करने से वंचित रह जाते हैं। टोला धनवाही में शासकीय प्राथमिक शाला भवन 1998 से खुला है। फिर भी यहां पर मतदान केंद्र नहीं बनता। जबकि 450 मतदाताओं की संख्या है। ग्राम बड़ागांव की दूरी जिसकी दूरी मात्र एक नाला का अंतर है, उसे पाकर हमें मतदान करने जाना पड़ता है। मप्र शासन की योजनाओं का लाभ किसी भी प्रकार से नहीं मिलता। इसीलिए टोला-धनवाही को भू-राजस्व ग्राम का दर्जा दिया गया है। मप्र शासन भू-राजस्व नियमानुसार टोला धनवाही को बरनमहगवां से अलग करने के लिए पूर्व में बरनमहगवां एवं धनवाही के खेत अलग-अलग हैं। पश्चिम में नदी एवं नाला है, उत्तर में नाला है, दक्षिण में उमरार नदी बह रही है। इन समस्याओं के चलते ग्रामीणों ने चुनाव का बहिष्कार करने का निर्णय लिया है।

इनकी रही उपस्थिति
चुनाव बहिष्कार के ऐलान के दौरान चंदन सिंह, दिनेश सिंह, प्रीतम सिंह, बसारी सिंह, दिलबहार सिंह, उदयभान सिंह, सबल सिंह, गजाधर सिंह, अमृत सिंह, राकेश सिंह, जयभान सिंह, ईश्वरदीन सिंह, प्रमोद सिंह, हरवंश सिंह, उदयभान सिंह, शिवमंगल सिंह, लक्ष्मी बाई, बिसाली सिंह, प्रियंका सिंह, सुमेरा सिंह, बहोरी, श्यामलाल सिंह, सुनीता सिंह, शंकर सिंह, रवि सिंह, शिवभरण सिंह, मीना सिंह, सुनीता सिंह, सतिया बाई, दुवासिया बाई, बबिता सिंह, जगन्ना सिंह, फूल सिंह, करण सिंह, अभयराज सिंह, देववती सिंह, छोटेलाल, अमेर सिंह, हेतराम सिंह, रणजीत सिंह, नागेंद्र सिंह, सूरज सिंह, मोहन लाल, रतिया बाई सहित बड़ी संख्या ग्रामीण मौजूद रहे।

 

 

balmeek pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned