यहां एक समय पानी की सप्लाई, फिर भी दोगुना देना पड़ रहा जलकर...जानिए कारण

Mukesh Tiwari

Publish: Jun, 06 2019 12:37:53 PM (IST)

Katni, Katni, Madhya Pradesh, India

कटनी. नगर निगम शहर में उपभोक्ताओं को पांच माह से एक समय पानी दे पा रहा है। उसपर भी दोहरी मार आमजन सह रहे हैं। नगर निगम ने जलकर में पिछले साल वृद्धि की थी और विरोध के बाद भी उसे लागू किया गया। दो समय पानी न मिलने के बाद भी अधिक राशि देने को लेकर उपभोक्ताओं में असंतोष है।
नगर निगम द्वारा पूर्व में हर माह उपभोक्ताओं से 90 रुपये जलकर के रूप में हर माह वसूले जाते थे। वर्ष 2016 से जलकर को बढ़ाकर 150 रुपये प्रति माह कर दिया गया और उसमें भी हर साल पांच प्रतिशत की वृद्धि की जा रही है। वर्तमान में 175 रुपये के लगभग लोगों को जलकर चुकाना पड़ रहा है। शहर में उपभोक्ताओं की संख्या 23 हजार के लगभग हो गई है और ऐसे में जहां नगर निगम लाखों रुपये हर साल जलकर के जमा करा रहा है तो आमजन एक समय पानी के लिए भी तरस रहे हैं।
परिषद ने भी जताया था असंतोष
नगर निगम की 11 अप्रैल 2016 और 20 जनवरी 2017 की परिषद की बैठक में भी सदस्यों ने जलकर वृद्धि पर असंतोष जताया था। परिषद सदस्यों का कहना था कि जब तक पूरी तरह से आमजन को दोनों समय पर्याप्त पानी उपलब्ध न कराया जाए, तब तक बढ़ाई गई राशि न ली जाए। जिसमें निगम अधिकारियों ने परिषद को आश्वासन भी दिया था लेकिन उसके बाद भी बढ़ी दर लागू की गईं और अभी तक उपभोक्ता पानी न मिलने पर भी राशि जमा करने को मजबूर हैं।
लोगों को पर्याप्त पानी न मिलने पर राशि जमा न कराने को लेकर परिषद में हुई चर्चा के आधार पर दिसंबर 2018 में नगर निगम अध्यक्ष ने आयुक्त को ध्यानाकर्षण पत्र दिया था। जिसमें लोगों की समस्या को देखते हुए पुर्नविचार करने का आग्रह किया गया था लेकिन उसपर भी कोई कार्रवाई नहीं की गई।
इनका कहना है...
परिषद में पर्याप्त पेयजल सप्लाई करने के बाद ही बढ़े हुए जलकर को जमा कराने की बात कही गई थी। जिसमें निगम अधिकारियों से पत्राचार भी किया गया लेकिन उसपर अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। लोगों को कई माह से पर्याप्त पानी नहीं मिल पा रहा है और उसपर अधिक राशि वसूलने से लोगों में असंतोष है। फिर से इसको लेकर चर्चा की जाएगी।
संतोष शुक्ला, अध्यक्ष नगर निगम

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned