scriptMurdered her husband with help of lover | प्रेमी व मुंहभोले भाई के साथ मिलकर पत्नी ने कराई पति की हत्या, देखें वीडियो | Patrika News

प्रेमी व मुंहभोले भाई के साथ मिलकर पत्नी ने कराई पति की हत्या, देखें वीडियो

locationकटनीPublished: Jan 20, 2024 08:29:23 pm

Submitted by:

balmeek pandey

कनपट्टी से गला दबाकर, पेट व छाती में कूदकर उतारा था मौत के घाट, पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर भेजा जेल

प्रेमी व मुंहभोले भाई के साथ मिलकर पत्नी ने कराई पति की हत्या, देखें वीडियो
प्रेमी व मुंहभोले भाई के साथ मिलकर पत्नी ने कराई पति की हत्या, देखें वीडियो

कटनी. विजयराघवगढ़ थाना क्षेत्र में हुई युवक की अंधी हत्याकांड का शुक्रवार को पुलिस ने खुलासा किया है। इस वारदात में सात जन्मों तक साथ निभाने का संकल्प लेने वाली पत्नी ही कातिल निकली। प्रेमी और मुंहबोले भाई के साथ मिलकर पति की विवाह के छह माह में ही नृशंस हत्या करा दिया है। पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार करते हुए न्यायालय में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है। पुलिस अधीक्षक अभिजीत कुमार रंजन ने प्रेसवार्ता में खुलासा करते हुए बताया कि 16 जनवरी को दोपहर विजयराघवगढ़ के ग्राम बंजारी वन परिक्षेत्र के मेड़ पर एक अज्ञात युवक का शव मिला था। सूचना पर विजयराघवगढ़ पुलिस ने मामला संदिग्ध होने पर जांच शुरू की। आरोपियों की तलाश के लिए एफएसएल टीम जबलपुर एवं फिंगर प्रिंट, डॉग स्क्वॉयड टीम की ममद ली गई। मृतक की पहचान रमाकांत पटेल पिता कृष्ण कुमार (23) निवासी ग्राम धनवाही थाना बदेरा जिला सतना के रूप में हुई। पुलिस ने शव को पीएम के लिए भेजने की तैयारी करने लगे तो परिजन आक्रोशित हो गए और एसपी, कलेक्टर को मौके पर बुलाने की जिद पर अड़े रहे।, बरही, कैमोर, विजयराघवगढ़ के बल ने मोर्चा संभाला। अधिकारियों की समझाइश के बाद परिजन माने।

शॉर्ट पीएम रिपोर्ट से बढ़ा संदेह
थाना प्रभारी अनूप सिंह ने बताया कि 17 जनवरी को डॉक्टरों की टीम में बीएमओ डॉ. विनोद कुमार, डॉ. वर्षा बत्रा, डॉ. डेनियल सीएचसी विजयराघवगढ़ के द्वारा शव का परीक्षण किया गया। रमाकांत पटेल की मृत्यु गला दबने से होना पाई गई। इस पर पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के विरूद्ध धारा 302ए, 201 के तहत विवेचना शुरू की। मृतक के परिजनों से पूछताछ की गई। परिजनों के द्वारा बताया गया कि 1 मई 2023 को रमाकांत पटेल का राखी पटेल निवासी देवसरीइंदौर के साथ विवाह हुआ था। शादी के करीब 15 दिन बाद ही वह अपने मायके चली गई थी। बीच में दो-तीन बार ही दो-तीन दिन के लिए रही है। इनका आपसी तालमेल ठीक न होने के कारण वह मायके में ही रह रही थी।

पहले बुलाया मायके, फिर कराई वारदात
परिजनो ने पुलिस को बताया कि रमाकांत पटेल बाइक से ग्राम धनवाही से पत्नी राखी से मिलने अपनी ससुराल ग्राम देवसरीइंदौर पहुंचा। लेकिन वह न तो देवसरीइंदौर पहुंचा और ना ही अपने घर धनवाही वापस आया, मृतक की हत्या में राखी पर संदेह व्यक्त किया। मुखबिर से प्राप्त सूचना पर पुलिस ने संदेही राजकुमार पटेल, विनय यादव, राखी पटेल से पूछताछ शुरू की। तीनों पुलिस को गुमराह करते रहे। हत्या करने के बाद गांव में ही सामान्य तरीके से रह रहे थे। राखी ने पुलिस को बताया कि पति उसे मारपीट कर प्रताडि़त करता था, जिस कारण से वह अपने मायके आ गई थी। घटना के करीब एक सप्ताह पहले ही रमाकांत पत्नी से मोबाइल पर बातचीत करने लगे थे, जब राखी अपने पति से मोबाईल पर बात नहीं करती थी तो वह राखी के मुंहबोले भाई राजकुमार उर्फ राजा से बात करता था और राखी से बात कराने के लिए कहा करता था। राजकुमार भी उसे बात करा दिया करता था। 14 जनवरी को रमाकांत और राजकुमार उर्फ राजा की आपस में बातचीत हुई तो रमाकांत कहने लगा कि मैं राखी से मिलने विजयराघवगढ़ कल आ रहा हूं, तब राखी ने अपने प्रेमी विनय यादव से कहा कि वह अपने ससुराल जाना नहीं चाहती है। इसको कैसे भी कल मुझे लेने आये तो इसको मार दो और दोनों ने उसकी हत्या करने का षड्यंत्र रच डाला।

सीने व पेट में कूदकर की हत्या
इस षड्यंत्र में मुंहबोले भाई राजकुमार पटेल को शामिल कर लिया और जैसे ही रमाकांत मोटर साइकिल से अकेला विजयराघवगढ़ आया उसके साथ घटना स्थल पर राखी का पति रमाकांत एवं प्रेमी विनय यादव दोनों ने शराब पी और शाम के वक्त जब रमाकांत पत्नी से मिलने की जिद करते हुए देवसरीइंदौर जाने के लिए मोटर साइकिल में बैठा तो पूर्व सुनियोजित तरीके से विनय यादव ने मुंह में प्रहार किया। अंगूठी युवक के आंख में लगी, जिससे वह गिर। गले में कनपट्टी पहने थे, जोर से खींचा। राजकुमार ने उसके दोनों हाथ पकड़ लिए, विनय यादव ने उसके सीने में पेट में जूतों से उचक-उचक कर हत्या कर दी। उसकी मोटर साइकिल और माबाइल लेकर जाने लगे, लेकिन चालू नहीं होने से पुल के आगे रोड के किनारे खड़ी कर अन्य वाहन से लिफ्ट लेकर आ गए। मोबाइल तोडकऱ फेंक दिया था।