कुदरत का करिश्मा, महिला ने एक साथ तीन बेटियों को दिया जन्म

mukesh tiwari

Publish: Jan, 14 2018 11:56:35 (IST)

Katni, Madhya Pradesh, India
कुदरत का करिश्मा, महिला ने एक साथ तीन बेटियों को दिया जन्म

एम्बुलेंस 108 में अस्पताल से पहले स्टॉफ ने कराया प्रसव

कटनी. कुदरत ने एक बार फिर से अपना करिश्मा दिखाया। शनिवार को एक महिला ने एक साथ बेटियों को जन्म दिया। प्रसव पीड़ा से तड़प रही महिला की स्थिति को देखते हुए बड़वारा में एम्बुलेंस 108 के स्टाफ ने प्रसव कराया। जिसमें महिला ने एक साथ तीन लाड़लियों को जन्म दिया है। तीनों बालिकाएं स्वस्थ्य हैं और उन्हें बाद में बड़वारा अस्पताल में भर्ती कराया गया है। एम्बुलेंस 108 जिला प्रभारी संजीव शर्मा ने बताया कि बड़वारा एम्बुलेंस को शाम को बजरवारा गांव में प्रसूता गीता पति रवि भुमिया को अस्पताल ले जाने के लिए कॉल आया था। जिसमें ईएमटी रामचरण साहू पायलट अमृत पटेल के साथ रवाना हुए। बड़वारा मुख्यालय से आठ किमी. दूर बजरवारा से वाहन महिला को लेकर अस्पताल के लिए रवाना हुआ। अस्पताल पहुंचने से 3 किमी. पहले गीता की प्रसव पीड़ा असहनीय हो गई। जिसमें ईमएटी ने परिजनों की मदद से गीता का सुरक्षित प्रसव कराया। जिसमें उसने तीन बालिकाओं को जन्म दिया। प्रसव के बाद ज"ाा-ब"ाा को सुरक्षित बड़वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती कराया गया।
बेटे की चाह में 5 बेटियां
जिला प्रभारी शर्मा ने बताया कि गीता के पूर्व में दो बेटियां हैं और तीसरी बेटी की मौत हो गई थी। बेटे की चाह में उसका चौथी बार प्रसव हुआ और उसमें तीन बेटियां और हो गईं। बेटे की चाहत में गीता पांच बेटियों की मां बन गई।
---------------------------
इधर,
गाय को बचाने में दुर्घटना का शिकार हुआ प्रौढ़
विजयराघवगढ़ के बरेटहा की घटना, घायल जिला अस्पताल में भर्ती
कटनी. विजयराघवगढ़ थाना क्षेत्र के बरेटहा गांव में खेत से घर लौटने के दौरान अचानक सामने गाय आ जाने से उसे बचाने के चक्कर में एक प्रौढ़ दुर्घटना का शिकार हो गया। दुर्घटना में उसे गंभीर चोट आई हैं, जिसे विजयराघवगढ़ अस्पताल में भर्ती कराया गया। हालत में सुधार न होने पर घायल को जिला अस्पताल रेफर किया गया है। जानकारी के अनुसार बरेहटा निवासी रामेश्वर चौधरी 50 वर्ष शनिवार की सुबह खेत से बाइक से घर लौट रहा था। अचानक सड़क पर गाय सामने आ गई और वाहन अनियंत्रित होकर दुर्घटना का शिकार हो गया। जिसमें रामेश्वर को गंभीर चोट आईं। जंगल की ओर से लकड़ी लेकर आ रहे लोगों ने परिजनों को सूचना दी। जिसके बाद घायल को विजयराघवगढ़ अस्पताल ले जाया गया। हालत में सुधार न होने पर डॉक्टरों ने प्राथमिक उपचार के बाद उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया।
----------------------

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned