VIDEO: महाष्टमी पर मंदिरों में उमड़ा आस्था का सैलाब

मां को अर्पित की अठवाईं, कराया कन्या भोज, बांटा प्रसाद, शहर के प्रमुख शक्तिपीठ जालपा मढिय़ा, शीतला माता मंदिर, खिरहनी मंदिर, विश्राम बाबा मंदिर में रहीं पर्व की धूम

By: balmeek pandey

Published: 25 Oct 2020, 08:20 PM IST

Katni, Katni, Madhya Pradesh, India

कटनी. शारदेय नवरात्र की महाष्टमी पर शहर के देवी मंदिरों में आस्था व श्रद्धा का सैलाब उमड़ा। सुबह से लेकर देर रात तक मंदिरों में श्रद्धालुओं की भीड़ रही। लोगों ने मातारानी को अठवाई, नारियल, चुनरी भेंट की और परिवार के कल्याण की कामना की। आस्था के केन्द्र प्रमुख शक्तिपीठ मां जालपा देवी मंदिर में सुबह 4 बजे मां के तीनों स्वरूपों को विशेष श्रंगार लालजी पंडा के नेतृत्व किया गया और उसके बाद दर्शनों को पट खोले गए। सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालुओं ने मातारानी का दर्शन पूजन किया और शाम को महाआरती का आयोजित की गई। अष्टमी तिथि को माता रानी को अठर्वां चढ़ाने का विधान है। लोगों ने मातारानी को अठवाईं चढ़ाकर श्रंगार अर्पित किया। इस दौरान सुख समृद्धि की कामना के साथ वैश्विक महामारी कोरोनावायरस को खत्म करने के लिए श्रद्धालुओं ने प्रार्थना की। व्रती महिलाओं ने व पुरुषों ने प्रसाद का वितरण किया यहां पर कोरोना वायरस एहतियात के तौर पर लगातार श्रद्धालुओं को सामाजिक दूरी का पालन करने, मास्क लगाकर रखने का ऐलान किया गया।
शहर के नई बस्ती स्थित शीतला माता मंदिर व विश्राम बाबा माई धाम काली मंदिर में भी सुबह से श्रद्धालुओं की भीड़ रही। दोपहर तक श्रद्धालु पूजन करने मौजूद रहे तो शाम को भी विशेष पूजन आराधना की गई। गाटरघाट दुर्गा मंदिर, दुर्गा चौक मंदिर, रेलवे कॉलोनी एनकेजे दुर्गा मंदिर, लखेरा खेरमाई, आर्डिनेंस खेरमाई सहित अन्य देवी मंदिरों में पूजन अनुष्ठान हुए। साथ ही कन्या भोज का आयोजन किया गया। लालजी पंडा ने बताया कि मां जालपा देवी मंदिर से जवारोंं की शोभायात्रा नवमीं को शाम को निकाली जाएगी, जो जुलूस मार्ग से होते हुए कटनी नदी घाट में विसर्जन के साथ समाप्त होगी। इसमें बहुत कम संख्या में लोग शामिल होंगे। अष्टमी में शहर में विराजित प्रतिमाओं के दर्शनों को भी लोग निकले परिवार के साथ निकले और आधी रात तक शहर जयकारों से गूंजता रहा।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned