बेरोजगारों को स्वरोजगार से जोड़ने में लापरवाही

स्वरोजगार में बेपरवाही पर आदिम जाति और अंत्यावसायी विभाग को कलेक्टर ने लगाई फटकार.

मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, आर्थिक कल्याण और युवा उद्यमी योजना में लक्ष्यपूर्ति नहीं होने पर कलेक्टर बोले होगी सख्त कार्रवाई.

कटनी. मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, आर्थिक कल्याण योजना और युवा उद्यमी योजना में बेरोजगार युवकों को स्वरोजगार का लाभ दिलाने में लापरवाही पर आदिम जाति कल्याण विभाग और अंत्यवसायी विभाग के अधिकारियों को कलेक्टर एसबी सिंह ने कड़ी फटकार लगाई। कलेक्टर ने दोनों ही विभाग के अधिकारियों को दो टूक कहा कि मार्च माह की समाप्ति तक लक्ष्य की पूर्ति नहीं हुई तो सख्त कार्रवाई की जाएगी। कलेक्टर ने कहा कि दोनों ही विभाग के अधिकारी बेरोजगार युवकों के साथ ही बैंक कर्मचारियों से मिलकर जरुरी दस्तावेज पूरा कराएं और स्वीकृत प्रकरणों में ऋण वितरण की कार्रवाई शीघ्र पूरा करवाएं।

स्वरोजगार योजनाओं में जिला उद्योग केन्द्र द्वारा मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना में 230 भौतिक लक्ष्य के विरुद्ध 256 प्रकरण स्वीकृत, 232 प्रकरण वितरण किया गया। युवा उद्यमी योजना में 25 भौतिक लक्ष्य के विरुद्ध 25 प्रकरण स्वीकृति में 22 प्रकरण वितरित, पिछड़ा वर्ग कल्याण की मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना में 40 भौतिक लक्ष्य के विरुद्ध 54 प्रकरण स्वीकृत 42 प्रकरण वितरित, आर्थिक कल्याण योजना में 40 के भौतिक लक्ष्य के विरुद्ध 31 प्रकरण स्वीकृत कर 14 प्रकरणों में वितरण की उपलब्धि हासिल की है।

1022 में 825 को ही ऋण
बरोजगार युवकों द्वारा स्वरोजगार के लिए आवेदन देने के बाद कई महीने तक ऋण के लिए चक्कर काटना पड़ रहा है। इस वित्तीय वर्ष में 1213 बेरोजगार युवाओं को स्वरोजगार से जोडऩे का लक्ष्य है। इसमें 1022 आवेदन बैंकों को भेजा गया तो 822 प्रकरणों में ही ऋण स्वीकृ़त हुआ।

raghavendra chaturvedi Bureau Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned