जंगल है या खेल मैदान, आश्चर्य में खिलाड़ी व ग्रामीण

खिलाडिय़ों को नहीं मिली मैदान की सौगात, ग्राम पंचातय मतवार पड़रिया का मामला

By: shivpratap singh

Published: 23 Jan 2018, 08:03 AM IST

कटनी. बड़े-बड़े पेड़..., पूरे में उड़ी झाड़-झंकाडिय़ां, पत्थरों का लगा ढेर, पहाड़ी जैसा आकार। यह हालात किसी जंगल व पहाड़ी का नही बल्कि एक खेल मैदान का है। यह नजारा है कटनी जनपद क्षेत्र अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत मतवार पड़रिया का। जहां पर खिलाडिय़ों के लिए सुव्यस्थित मैदान देने की योजना पर ग्राम पंचायत द्वारा पानी फेर दिया गया। नाली खोदकर और बोर्ड गड़ाकर मैदान पूरा होना बताया दिया है। ग्राम पंचायत की इस लापरवाही व जिम्मेदारों की अनदेखी के चलते शासन-प्रशासन द्वारा चलाई जा रही जन कल्याणकारी योजनाओं को पलीता लग रहा है। ग्रामीणों व खिलाडिय़ों ने कई बार इस संबंध में आवाज उठाई लेकिन अबतक कोई सुनवाई नहीं हुई।

मनरेगा मद से बना है मैदान
ग्राम पंचायत मतवार पड़रिया में मनरेगा मद से खेल मैदान का निर्माण कराया जाना था। मैदान की २०१६-१७ में स्वीकृति प्राप्त हुई और शासन से ४ लाख ९० हजार रुपए स्वीकृत हुए। राशि जारी होने के बाद निर्माण एजेंसी ग्राम पंचायत मतवार पड़रिया द्वारा मैदान का निर्माण शुरू कराया गया। लेकिन निर्माण ऐसा हुआ कि वह खिलाडिय़ों के किसी काम का नहीं।

पेड़ हटाए ना ही कराया समतलीकर
ग्राम पंचायत द्वारा मैदान निर्माण के नाम पर सिर्फ नाली खुदाई का काम कराया गया। मैदान में उगे बड़े-बड़े पेड़ों को न तो हटवाया गया और ना ही मैदान का समतलीकरण कराया गया। ऐसा नहीं है कि ग्राम पंचायत की इस मनमानी से जिम्मेदार अनजान हैं, सबकुछ जानते हुए भी खेल मैदान की दो साल में दशा-दिशा नहीं सुधरी।

दम तोड़ रहीं प्रतिभाएं
सरकार द्वारा गांव में छिपी खेल प्रतिभाओं को निखारने के लिए विभिन्न योजनाएं चलाई जा रही हैं। गांव-गांव खेल मैदान सहित खेल गतिविधियां आयोजित कराई जा रही हैं। लेकिन मतवार पड़रिया के बच्चों को अबतक सुव्यवस्थित खेल मैदान नहीं मिल पाया। इससे खेल प्रतिभाएं आहत हो रहीं हैं। ग्रामीणों ने शीघ्र ही इस दिशा में आवश्यक पहल किए जाने मांग की है।

इनका कहना है
ग्राम पंचायत में खेल मैदान निर्माण के लिए राशि जारी हुई है। खेल मैदान किन वजहों से कम्पलीट नहीं हुआ इसकी तत्काल जांच कराई जाएगी। जांच में दोषियों के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई होगी।
गणेश पांडे, सीईओ, जनपद पंचायत कटनी।

Show More
shivpratap singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned