नसबंदी ऑपरेशन में फिर बरती महिलाओं के साथ बड़ी लापरवाही, देखें वीडियो

अफसरों के निरीक्षण से भी नहीं सुधरीं व्यवस्था

By: balmeek pandey

Published: 21 Jan 2018, 05:20 PM IST

कटनी. कड़कड़ाती ठंड..., बगैर बेडशीट के रेग्जीन के ठंडे गद्दे, उसमें ठंड से ठिठुरते हुए ऑपरेशन के बाद लिटाई गईं महिलाएं, यहां-वहां गप्प मारते स्वास्थ्य कर्मचारी। लापरवाही और कलेक्टर के निर्देशों को धता बताने का यह नजारा था शनिवार को राष्ट्रीय कार्यक्रम परिवार नियोजन के तहत जिला अस्पताल में आयोजित नसबंदी शिविर का। यह शिविर एक बार फिर स्वास्थ्य अधिकारियों की अनदेखी का भेंट चढ़ा। शनिवार को छहरी सेक्टर, कन्हवारा सेक्टर सहित शहरी क्षेत्र के हितग्राहियों का ऑपरेशन शिविर आयोजित किया गया। इसमें ४० से अधिक महिलाओं के नसबंदी ऑपरेशन हुए। हर शिविर की तरह इस शिविर में भी पर्याप्त इंतजाम नहीं किए गए। जिसके चलते ऑपरेशन कराने पहुंची हितग्राहियों व उनके परिजनों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा। मरीजों की इन समस्याओं से सीएस, सीएमएचओ, बीएमओ सहित नोडल अधिकारी अनजान बने रहे।

एक पलंग पर दो महिलाएं
हर शिविर में लापरवाही के एक से बढ़कर एक नमूने सामने आ रहे हैं। इतने बड़े अभियान में सिर्फ औपचारिकता और टारगेट पूरा करने की रस्मअदायगी स्वास्थ्य विभाग द्वारा की जा रही है। ऑपरेशन के बाद एक ही पलंग पर दो महिलाओं को बगैर बैडशीट के लिटा दिया गया। मरीजों को न तो कंबल मिले और ना ही अन्य सुविधाएं। परिजन भी मजबूरी में कुछ नहीं कर सके।

मरीजों के बीच में मिली जगह
हर नसबंदी ऑपरेशन में लापरवाही उजागर होने के बाद जिले के जिम्मेदार अफसर व्यवस्था सुधार के निर्देश देते हैं। ये निर्देश सिर्फ कागजों तक सीमित रह जाते हैं। शनिवार को एलटीटी ऑपरेशन कराने वाली महिलाओं को ठीक से जगह भी नहीं नसीब हो रही थी। कुछ महिलाओं को मेडिकल तो कुछ को जनरल व आर्थो वार्ड में लिटाया गया।

इनका कहना है
शिविर में आवश्यक व्यवस्था के लिए डीपीएम को निर्देशित किया गया था। शिविर में सख्त निर्देश के बाद भी लापरवाही की गई है तो इसकी जांच कराई जाएगी। जांच में दोषियों के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई होगी।
डॉ. अशोक अवधिया, सीएमएचओ।

balmeek pandey Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned