पांच साल में कभी लक्ष्य पूरा नहीं कर पाया नगर निगम, पढि़ए खबर

वित्तीय वर्ष में ६ करोड़ ५२ लाख किया तय, अभी तक साढ़े तीन करोड़ की हो पाई वसूली

By: dharmendra pandey

Updated: 24 Mar 2019, 03:37 PM IST

कटनी. नगर निगम पिछले पांच साल में वित्तीय वर्ष की समाप्ति तक राजस्व वसूली का लक्ष्य कभी पूरा नहीं कर पाया है। इस वर्ष भी तय लक्ष्य से अभी निगम अमला कोसों दूर है और वित्तीय वर्ष का समाप्त होने में मात्र एक सप्ताह का समय बाकी है। वित्तीय वर्ष २०१८-१९ में निगम ने संपत्ति कर वसूली के लिए ६ करोड़ ५२ लाख रुपये वसूलने का लक्ष्य तय किया है। होली पर्व के पहले तक की स्थिति में निगम कोष में मात्र तीन करोड़ ५३ लाख रुपये जमा हो पाया है। अब एक सप्ताह का समय बाकी है और निगम के राजस्व अमले को अभी दो करोड़ ९९ लाख रुपये के लगभग वसूलने हैं। इतने कम समय में लक्ष्य को पूरा कर पाना कठिन नजर आ रहा है।
हर साल रहे पीछे
नगर निगम का राजस्व विभाग वित्तीय वर्ष की समाप्ति तक पिछले पांच साल में लक्ष्य पूरा नहीं कर पाया है। वर्ष २०१४-१५ में निगम ने सात करोड़ ६९ लाख रुपये राजस्व वसूली तय की थी लेकिन अमला मात्र ५ करोड़ चार लाख रुपये ही वसूल कर पाया था। ऐसी ही स्थिति वर्ष २०१५-१६ में रही, जिसमें सात करोड़ १९ लाख रुपये के लक्ष्य से अमला दो करोड़ ४० लाख रुपये पीछे रहा है। वर्ष २०१६-१७ में लक्ष्य दो करोड़ ४ लाख रुपये पीछे रहा है तो २०१७-१८ में छह करोड़ ९५ लाख रुपये के तय लक्ष्य से निगम अमला २ करोड़ ४१ लाख पीछे रहा है।
हर समीक्षा बैठक में निर्देश
माह जनवरी से निगम के अधिकारी राजस्व वसूली को गति देने समीक्षा बैठक कर रहे हैँ। जिसमें आयुक्त ने हर बार कम राजस्व जमा होने पर नाराजगी जताई है। उसके बाद भी अमला लक्ष्य को पूरा करने में नजदीक तक नहीं पहुंच पाया है।
वर्ष लक्ष्य प्राप्ति
२०१४-१५ ७.६९ करोड़ ५.०४ करोड़
२०१५-१६ ७.१९ करोड़ ४.७९ करोड़
२०१६-१७ ६.८९ करोड़ ४.८५ करोड़
२०१७-१८ ६.९५ करोड़ ४.५४ करोड़
२०१८- १९(२० मार्च) ६.५२ करोड़ ३.५३ करोड़

इनका कहना है...
वित्तीय वर्ष में अधिक से अधिक राजस्व वसूली के निर्देश दिए गए हैं। शेष दिनों में कर वसूली के साथ ही नल कनेक्शन काटने आदि की कार्रवाई भी कराई जा रही है।
एबी सिंह, आयुक्त नगर निगम

dharmendra pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned