बिल से नहीं हैं सहमत तो नहीं कटेगा बिजली कनेक्शन

अधिक बिल आने पर विभाग ने बताई मीटर वाचकों की गलती, फोरम ने जांच कराने तक पूर्व की तरह भुगतान कराने के दिए आदेश

By: mukesh tiwari

Updated: 11 Dec 2017, 10:48 PM IST

कटनी. बिजली विभाग द्वारा भेजे गए बिल से यदि आप सहमत नहीं हैं तो उसके भुगतान न करने पर आपका बिजली कनेक्शन नहीं काटा जाएगा। इसके लिए उपभोक्ता को विभाग को सहमत न होने का आवेदन देना होगा और उसके बाद पूर्व माह में आई रीडिंग के आधार पर ही भुगतान उपभोक्ता को तब तक करना होगा, जब तक उसके बिल संबंधी मामले का निराकरण नहीं हो जाता है।
शहर में पिछले दो-तीन माह से उपभोक्ताओं के अधिक बिल आ रहे हैं और इसके चलते कार्यालय में सुधार कराने भीड़ लग रही है। नवंबर माह में बिजली उपभोक्ता फोरम ने गणेश चौक में शिविर लगाया था और इस तरह की परेशानी को देखते हुए फोरम ने उपभोक्ताओं की राहत के लिए आदेश जारी किए हैं। फोरम के शिविर में ७६० शिकायतें आई थीं, जिसमें से ९९ प्रतिशत शिकायतें बिलों से संबंधित ही थीं। बिल अधिक आने की शिकायतों को लेकर स्थानीय बिजली विभाग के अधिकारियों ने तर्क दिया है कि पूर्व में मीटर वाचकों ने लोगों की रीडिंग मनमाने तरीके से कर दी थी। अब शहर में फोटो मीटर रीडिंग शुरू की गई है और ऐसे में पूर्व की भी रीडिंग जुड़कर आने से बिल की राशि बढ़ गई है।
उपभोक्ता की नहीं गलती
विभाग के तर्क पर फोरम ने माना कि रीडिंग बढ़कर आने में उपभोक्ता की किसी भी प्रकार की गलती नहीं है। इसके लिए उपभोक्ता को राहत देने मप्र सप्लाई कोड अंतर्गत फोरम ने विभाग को आदेश दिए हैं कि ऐसे उपभोक्ता जो विभाग से दिए गए बिल से सहमत नहीं हैं, वे अपने सब स्टेशन में आवेदन दें और विभाग उसे पूर्व में आ रही रीडिंग के आधार पर बिल जमा करने की अनुमति देगा। अधिक आए बिल का भुगतान न होने पर उपभोक्ता का बिजली कनेक्शन नहीं काटा जाएगा। साथ ही आवेदन के आधार पर विभाग उपभोक्ता की मीटर रीडिंग, मीटर की जांच करेगा और निराकरण कराया जाएगा।
इस संबंध में अध्यक्ष बिजली उपभोक्ता फोरम एके कुलश्रेष्ठ का कहना है कि शिविर के दौरान बिल अधिक आने की शिकायत आई थीं। जिसपर विभाग ने मीटर वाचकों द्वारा की गई गलती बताई है। ऐसे में उपभोक्ता की गलती नहीं है और मप्र सप्लाई कोड के अंतर्गत उन्हें बिल से सहमत न होने पर जांच पूरी होने तक राहत देने के आदेश विभाग को जारी किए गए हैं।

mukesh tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned