MP के इस जिले में शराब की दुकान बंद करने को कोई निर्देश नहीं, देर रात तक मिल रही है मनपसंद ब्रांड

-टीम पत्रिका की पड़ताल में हुआ खुलासा

By: Ajay Chaturvedi

Published: 26 May 2020, 03:48 PM IST

कटनी. शहर में शराब की दुकानें ठेकेदारों की मर्जी से बंद होती हैं। यहां कोई नियम नहीं है। ऐसे में देर रात तक मनमाफिक ब्रांट की शराब धड़ल्ले से बिक रही है।

वैसे अन्य शहरों में लॉकडाउन पीरियड में शराब की दुकानें शाम 7 बजे तक बंद करने का निर्देश है। लेकिन कटनी में इसका पालन नहीं हो रहा। शराब कारोबारियों के लिए शासन-प्रशासन के नियम कोई मायने नहीं रखते। रविवार की शाम टीम पत्रिका ने इसकी पड़ताल की। इसके तहत 4 अलग-0अलग क्षेत्र का मुआयना किया गया है। पता चला कि चारों इलाकों में शराब की दुकानें शाम सात बजे के बाद खुली रहीं। एक दुकान से तो रात पौने नौ बजे तक शराब की बिक्री होती रही।

हैरान करने वाला मसला है कि शटर खोल कर खुलेआम शासन-प्रशासन के आदेश की धज्जी उड़ाई जा रही है। चाहे वह स्टेशन चौराहा हो सुभास चौक हो, चांडक चौक हो या गर्ग चौराहा, हर तरफ शराब की दुकान बंद करने का कोई नियम नहीं है।

स्टेशन चौराहा पर शाम 7.34 बजे तक खुली रही शराब की दुकान
सुभाष चौक पर शाम 7.37 बजे तक खुली रही शराब की दुकान
चांडक चौक पर शाम 7.43 बजे तक खुली रही शराब की दुकान
गर्ग चौराहा पर रात 8.42 बजे तक शराब की दुकान खुली पाई ग

ये हाल तब है जब इन चौराहों पर यातायात पुलिस के जवान मुस्तैद रहते हैं। कोतवाली पुलिस भी मौजूद रहती है। लेकिन पुलिस भी इस तरफ कोई तवज्जो नहीं देती।

शराब की दुकानों को बंद करने को लेकर कोई दिशा निर्देश नहीं है। वैसे आम तौर पर शाम 7 बजे तक दुकानें बंद हो जाती हैं। स्टाफ गश्त करता रहता है। यदि कहीं मनमानी हो रही है तो कार्रवाई होगी। दीपक अवस्थी, जिला आबकारी अधिकारी

Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned