स्वच्छता और संक्रमण नियंत्रण में इस छोटे से अस्पताल ने किया बेहतर काम, स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने किया सम्मानित

स्वच्छता और संक्रमण नियंत्रण में इस छोटे से अस्पताल ने किया बेहतर काम, स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने किया सम्मानित

balmeek pandey | Publish: Jul, 14 2018 11:49:07 AM (IST) | Updated: Jul, 14 2018 11:50:05 AM (IST) Katni, Madhya Pradesh, India

कायाकल्प योजना में सरकार से मिला प्रथम स्थान

कटनी. अस्पतालों में स्वास्थ्य सुविधाएं बेहतर बनाने, बढिय़ा साफ-सफाई रखने सहित मरीजों के लिए चलाई जा रही योजनाओं का समय पर लाभ मिलने व सही उपचार के लिए खास प्रयास किए जा रहे हैं। इसके लिए केंद्र सरकार द्वारा देश भर में कायाकल्प योजना चलाई जा रही है। जिसमें 250 से अधिक बिंदुओं पर साल में दो बार उनकी गुणवत्ता परखी जा रही है। इस गुणवत्ता में जिले का बिलहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ने बाजी मारी है। 2017-18 की कायाकल्प योजना में स्वास्थ्य केंद्र ने जिला स्तर पर प्रथम स्थान अर्जित किया है। केंद्र को यह स्थान स्वच्छता, साफ-सफाई, संक्रमण नियंत्रण में प्रोत्साहन के लिए दिया गया है। इस पर स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने सम्मानित किया है। सरकार द्वारा मिले सम्मान पर शनिवार को सीएमएचओ डॉ. एसके निगम ने सभी अधिकारी एवं कर्मचारियों को अवगत कराते हुए पूरे जिले के स्वास्थ्य अमले को स्वच्छता, स्वास्थ्य सेवा में बेहतर काम करने की बात कही। इस दौरान सीएमएचओ डॉ. एसके निगम, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. समीर सिंघई, डीपीएम घनश्याम मिश्रा, अजय भारद्वाज, अनीता उसरेठे, नितिन तपा, पीके महार, सचिन श्रीवास्तव सहित अन्य अधिकारी कर्मचारी मौजूद रहे।

बेहतर परिणाम के लिए मिला सम्मान
कायाकल्प योजना के तहत यह पाया गया कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बिलहरी प्रबंधन द्वारा स्वच्छता और संक्रमण नियंत्रण के लिए विशेष पहल की गई है। इस प्रयास से सार्थक परिणाम सामने आए है। स्वच्छता के साथ अस्पताल की चिकित्सा सुविधाओं की गुणवत्ता में भी सुधार हुआ है। सीएमएचओ ने कहा है कि जिले के सभी अस्पताल प्रबंधनों को स्वच्छता में विशेष पहल करने कहा गया है।

बाकी अस्पतालों की स्थिति चिंताजन
जिले में बाकी अस्पतालों की स्वच्छता में स्थिति बेहद ङ्क्षचताजनक है। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों, उप स्वास्थ्य केंद्रों, डिलेवरी प्वाइंट सहित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में हमेशा गंदगी का आलम रहता है। इस संबंध में कलेक्टर सहित स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने कई बार स्थानीय अमले को साफ-सफाई रखने निर्देश दिए हैं, बाबजूद इसके ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

जिला अस्पताल भी नहीं स्वच्छ
जिला अस्पताल में नव निर्मित ट्रामा सेंटर को छोड़ दिया जाए तो शेष वार्डों में गंदगी बजबजा रही है। जिला अस्पताल के आइसुलेशन, महिला व जनरल वार्ड के लोग दुर्गंध के कारण परेशान रहते हैं, ऐसा नहीं है सफाई के लिए बजट न हो, लेकिन जिम्मेदारी की अनदेखी के कारण ठेकेदारों द्वारा मनमानी की जा रही है।

की जाएगी विशेष पहल
सीएमएचओ डॉ. एसके निगम का कहना है कि जीवन में स्वच्छता बेहद जरूरी है। खासकर मरीजों के लिए सफाई आवश्यक हैं। गंदगी से संक्रमण तेजी से बढ़ता है। जिले के सभी अस्पतालों के बीएमओ व प्रभारियों को अस्पताल में विशेष साफ-सफाई रखने के लिए निर्देश दिए जाएंगे। औचक निरीक्षण कर लापरवाही बरतने वालों पर कार्रवाई की जाएगी।

Ad Block is Banned