अधिकारियों ने गिरवाए गरीबों के आशियाने, भू-माफिया ने तान दी सीट की दीवार

- लाल पहाड़ी को शासकीय दर्ज करने के लिए प्रस्ताव भेजने की कलेक्टर ने कही थी बात.

- बाक्साइड और दूसरी खनिज उपलब्धता वाले लाल पहाड़ी पर कब्जे को लेकर एसडीएम ने सोमवार को जांच की कही है बात.

- गरीबों के आशियाने ढहाए जाने के दौरान नगर निगम अधिकारियों ने स्वच्छ भारत अभियान में ग्रीनरी विकसित करने का दिया था आश्वासन.

By: raghavendra chaturvedi

Published: 29 Jun 2020, 12:18 PM IST

कटनी. लाल पहाड़ी के समीप जिस स्थान पर एसडीएम, तहसीलदार, सीएसपी व नगर निगम के अधिकारियों ने 25 जून को गरीबों के आशियाने पर अतिक्रमण की कार्रवाई की थी, उसी स्थान पर रविवार सुबह लोहे की सीट की दीवार तान दी गई। खासबात यह है कि लोहे ही सीट किसने लगाई इस बात को लेकर प्रशासन के अधिकारी खुद को अंजान बता रहे हैं।

एसडीएम बलबीर रमण सोमवार सुबह मौका मुआवना कर कार्रवाई की बात कह रहे हैं। दूसरी ओर पीडि़त परिवार और शहर के नागरिकों का आरोप है कि भू-माफिया का रास्ता साफ करने के लिए प्रशासन ने अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की। लाल पहाड़ी के सामने से गरीबों का आशियाना ढहाए जाने के दो दिन बाद ही भू-माफिया ने कब्जा करने के इरादे से लोहे ही सीट लगा दी।

लाल पहाड़ी के सामने अतिक्रमण हटाने को लेकर नगर निगम आयुक्त आरपी सिंह ने कहा था कि सड़क किनारे ग्रीनरी बनाने के लिए अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की जा रही है। इधर ग्रीनरी के लिए काम शुरू होने से पहले ही लोहे की सीट लगाने को लेकर अब आयुक्त नगर निगम के इंजीनियर राकेश शर्मा से बात करने की बात कह रहे हैं।

लाल पहाड़ी में बाक्साइड सहित अन्य खनिज प्रचुर मात्रा में है। आवेदक राकेश विश्वकर्मा इस जमीन को शासकीय मद में दर्ज करने आवेदन पहले ही दे चुके हैं। उनका कहना है कि उक्त जमीन जब 1943-44 में मिल्कियत सरकार दर्ज है तो अब भी इस भूमि को सरकारी जमीन दर्ज किया जाए।

करीब सात माह पूर्व कांग्रेस की कमलनाथ सरकार द्वारा चलाए जा रहे माफिया दमन अभियान के दौरान कलेक्टर एसबी सिंह ने उक्त जमीन को शासकीय दर्ज करने के लिए शासन को प्रस्ताव भेजने की बात कही थी। खासबात यह है कि उस समय जमीन पर कब्जा की कोशिश में लगे कांग्रेस नेता और साथी कांग्रेस सरकार की छवि प्रभावित नहीं हो इसको लेकर उस समय मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिए थे, और अब कब्जा और निर्माण की तैयारी तेज कर दी है।

इस संबंध में एसडीएम बलबीर रमण का कहना है कि लाल पहाड़ी के सामने अतिक्रमण हटाने को लेकर नगर निगम अधिकारियों ने कहा था कि स्वच्छ भारत अभियान में ग्रीनरी का निर्माण होगा। अगर लोहे की सीट लगाई गई है तो सोमवार को जांच करवाकर हटाने की कार्रवाई की जाएगी।

raghavendra chaturvedi Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned