लॉक डाउन की स्थिति में 14 अप्रैल तक शुरू नहीं हो पाएगा नया शिक्षा सत्र, 9 से 12वीं के विद्यार्थियों का बेसिक कोर्स मजबूत रहे, ऑनलाइन होगी पढ़ाई

जिले का स्कूल शिक्षा विभाग 175 प्राचार्यों को गु्रप के माध्यम से भेजेगा यूट्यूब पर कक्षा 9वीं से 12तक के विद्यार्थियों के लिए हर विषय के बनाए गए 630 वीडियो कक्षा प्रभारी पहुंचाएंगे पालकों तक , कोर्स न पिछले इसलिए एक अप्रैल से शुरू हो जाएगी ऑनलाइन पढ़ाई

 

By: dharmendra pandey

Published: 30 Mar 2020, 09:21 AM IST

कटनी. प्रदेशभर में कोरोना के कोहराम को लेकर 14 अप्रैल तक लॉक डाउन है। ऐसी स्थिति में नया शिक्षा सत्र 2020-2021 एक अप्रैल से शुरू नहीं हो पाएगा। स्कूलों में ताला लटका रहेगा। अवकाश के चलते हाइस्कूल और हायर सेकंडरी स्कूलों के विद्यार्थियों की बेेसिक पढ़ाई कमजोर न हो इसलिए कक्षा 9वीं से 12वीं तक विद्यार्थियों की पढ़ाई ऑनलाइन के माध्यम से होगी। यह एक अप्रैल से शुरू होगी। 9वीं से 12वीं तक की हर एक विषय की पढ़ाई का लगभग 630 वीडियो बनाया गया है। इसकी लिंक विद्यार्थियों को भेजी जाएगी। जिसको विद्यार्थी घर पर ही बैठकर कम्प्यूटर, लैपटॉप व एंड्रायड मोबाइल पर पढ़ाई कर सकेंगे। स्कूल शिक्षा विभाग से निर्देश मिलने पर जिले के स्कूल शिक्षा विभाग ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है। जिले के 175 हाइस्कूल और हायर सेकंडरी स्कूलों के प्राचार्यों को वर्चुअल क्लास एमपी स्कूल एजुकेशन की लिंक भेजी जाएगी।

विद्यार्थियों तक ऐसे पहुंचेगी लिंक
कक्षा9वीं से 12वीं तक विद्यार्थियों की पूरी जानकारी परीक्षा में भरवा ली गई थी। प्राचार्य कक्षा प्रभारी को लिंक भेजेंगे। इसके बाद कक्षा प्रभारी पालकों के बने गु्रप में उसको भेजेंगे और बच्चों को घर पर ही उसी लिंक के माध्यम से पढ़ाई करने के लिए कहेंगे।

प्रीबोर्ड परीक्षा के आधार पर कक्षा 10वीं के विद्यार्थियों को दिया जाएगा अस्थाई तौर पर दिया जाएगा 11वीं में प्रवेश
कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर माध्यमिक शिक्षा मंडल ने बोर्ड परीक्षा स्थगित कर दी है। ऐसी स्थिति में कक्षा 10वीं और 12वीं की परीक्षा नहीं हो पाई। अब एक अप्रैल से नया शिक्षा सत्र शुरू नहीं होने की दशा में स्कूल शिक्षा विभाग ऑनलाइन पढ़ाई कराने की तैयारी में है। विद्यार्थियों के समय नुकसान को देखते हुए फिलहाल कक्षा 10वीं की परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों को 11वीं की कक्षा में प्रवेश दिया जाएगा। यह विद्यार्थियों को प्रीबोर्ड परीक्षा के आधार पर दिया जाएगा। जबकि कक्षा 9वीं, 11वीं के विद्यार्थियों का परिणाम विमर्श पोर्टल पर विभाग ने पहले ही जारी कर दिया था।

-एक अप्रैल से नया शिक्षा सत्र शुरू होना था, लेकिन कोरोना वायरस की वजह से यह शुरू नहीं हो पाएगा। विद्यार्थियों की पढ़ाई बाधित न हो इसलिए ऑनलाइन के माध्यम से पढ़ाई होगी। प्री बोर्ड परीक्षा परिणाम के आधार पर कक्षा 10वीं के विद्यार्थियों को फिलहाल अस्थाई तौर पर कक्षा 11वीं में प्रवेश दिया जाएगा। जिससे उनका कोर्स न पिछड़े।
अभय जैन, एपीसी, राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा मिशन।

dharmendra pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned