महिला अधिवक्ता को जान से मारने की धमकी मामले में कार्रवाई न होने से आक्रोश

-भाजपा नेता और अधिवक्ताओं ने एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

By: Ajay Chaturvedi

Updated: 26 Aug 2020, 01:54 PM IST

कटनी. महिला अधिवक्ता अंजुला बजाज को पिछले महीने यानी 14 जुलाई को कुछ अवांछनीय तत्वों ने फोन कर बेटे समेत जान से मारने की धमकी दी थी। इसकी रिपोर्ट एसपी से भी की गई थी। लेकिन उस घटना से आज तक आरोपी के विरुद्ध कोई कार्रवाई नहीं हुई। इसे लेकर अधिवक्ताओं में काफी आक्रोश है। ऐसे ही आक्रोशित अधिवक्ताओं ने इस मामले में त्वरित कार्रवाई की मांग की है। इस संबंध में एसडीएम को ज्ञापन सौंपा है।

बता दें कि महिला अधिवक्ता अंजुला बजाज ने बताया था कि गत 14 जुलाई को कतिपय अवांछनीय तत्वों ने उन्हें लगातार फोन पर जान से मारने की धमकी दी। उन्होंने मेरे बेटे तक की हत्या की बात कही। इसकी शिकायत एसपी व बार काउंसिल से की थी। यह खबर पत्रिका ने भी विस्तार से प्रकाशित की थी। लेकिन इस मामले में पुलिस अब तक आरोपी का पता नहीं लगा सकी है। ऐसे में अधिवक्ता सनत परोहा अध्यक्ष व प्रदेश कार्यकारिणी समिति सदस्य अधिवक्ता अनंत पांडेय के साथ कटनी जिले के वकीलों ने जिले की अधिवक्ता एडवोकेट अंजुला बजाज व उनके पुत्र अक्षय बजाज जान से मारने की धमकी मिलने के बाद भी कार्रवाई न होने पर ज्ञापन सौंपा। इसमें कहा गया कि पिछले महीने की घटना की एफआईआर दर्ज कराने के बाद भी कटनी जिले की पुलिस ने कोई गंभीरता नहीं दिखाई और ना ही वह अपराधी तक पहुंच पाई है।

ये भी पढ़ें- महिला अधिवक्ता को मिल रही बच्चे सहित जान से मारने की धमकी

इस मामले में अधिवक्ताओं संग भारतीय जनता पार्टी जिला शिक्षा प्रकोष्ठ के कार्यकर्ताओं ने भी पुलिस प्रशासन की भूमिका पर सवाल उठाए हैं। भाजपा नेताओं, अधिवक्ताओं व समाजसेवियों ने एसडीएम को ज्ञापन सौंपते हुए आरोपियों को अविलंब गिरफ्तार कर, महिला अधिवक्ता को सुरक्षा प्रदान करने की मांग की है।

ज्ञापन देने वालों में प्रमुख रूप से अनंत पांडेय, अनिल गर्ग, एडवोकेट राजेश तिवारी, अनंत गुप्ता, निरंजन श्रीवास्तव, प्रियदर्शन बड़गैंया, हसन अहमद आदि प्रमुख रहे।

bjp leader
Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned