लॉकडाउन में पंचायतों को भुगतान का संकट, 27 मार्च से काम नहीं कर रहा पंचायत दर्पण पोर्टल

प्रदेशव्यापी समस्या ने बढ़ाई परेशानी, अंत्येष्टि सहायता और नल-जल योजना का भुगतान अटका, ग्रामीणों ने कहा-सरकार ने रोकी ओटीपी और रूक गया भुगतान.

By: raghavendra chaturvedi

Published: 13 Apr 2021, 12:37 PM IST

कटनी. बहोरीबंद के डीहुटा ग्राम पंचायत में अंत्येष्टि सहायता और पेयजल का भुगतान नहीं होने से ग्रामीण परेशान हैं। गांव के सचिव जागेश्वर विश्वकर्मा बताते हैं कि भुगतान के दौरान पंचायत दर्पण पोर्टल से प्रक्रिया अपनाए जाने के बाद ओटीपी नहीं आ रही है। ओटीपी नहीं आने के कारण भुगतान की प्रक्रिया पूरी नहीं हो रही है। खासबात यह है कि यह समस्या बहोरीबंद जनपद के डिहुटा गांव की नहीं है, बल्कि पूरे प्रदेश में पंचायत पोर्टल काम नहीं कर रहा है। जिस कारण पंचायतों को भुगतान नहीं हो पा रही है।

ई स्वराज पोर्टल भी ठप-
पंचायत प्रतिनिधियों का कहना है कि कोरोना और लॉकडाउन के बीच ई स्वराज पोर्टल भी काम नहीं कर रहा है। इस कारण 14वें और 15वें वित्त योजना से होने वाले भुगतान पर संकट है। इससे नल-जल योजना में बिजली बिल का भुगतान, चौकीदारों को वेतन, पंप मरम्मत के अलावा छोटे-छोटे विकास कार्यों पर असर पड़ रहा है।

करोड़ों का भुगतान अटका-
पंचायत दर्पण और ई-स्वराज पोर्टल बंद होने से कटनी जिले के सभी जनपद पंचायतों में पंचायतों को करोड़ों रूपये का भुगतान अटक गया है। बहोरीबंद, विजयराघवगढ़, बड़वारा, ढीमरखेड़ा व रीठी विकासखंड के पंचायतों में काम पर असर पड़ रहा है।

सरपंच फोरम के अध्यक्ष अनंत आनंद दुबे बताते हैं कि 27 मार्च से दोनों पोर्टल बंद हैं। किसी भी प्रकार की कोई पेमेंट नहीं हो रही है। इससे निर्माण कार्य एवं अन्य जरूरी कार्यो के अलावा नल-जल योजना ज्यादा प्रभावित हो रही है।

Corona virus
raghavendra chaturvedi Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned