खाकी वर्दी वाले ने किया विभाग को बदनाम

पुलिस आरक्षक उमरिया में निकला पेंगोलीन का शिकारी, बड़वारा में आधी रात गिरफ्त में दो साथी

By: narendra shrivastava

Published: 24 Feb 2021, 05:56 PM IST

कटनी। बड़वारा में आधी रात की गई कार्रवाई में पेंगोलीन के साथ दो शिकारी पकड़े गए। वाइल्ड लाइफ क्राइम कंट्रोल ब्यूरो (डब्ल्यूसीसीबी), एसटीएफ जबलपुर, बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व और कटनी कुंडम परियोजना के कर्मचारियों की संयुक्त कार्रवाई में सोमवार रात 12 बजे डिप्टी रेंजर टिमरेस इवेन की टीम ने व्यापारी बनकर पेंगोलीन के दो शिकारियों को दबोचा। यह कार्रवाई उमरिया जिले में पेंगोलीन के साथ पकड़े उन तीन शिकारियों के इनपुट के आधार पर हुई जिसमें शिकारियों में एक पुलिस आरक्षक भी निकला। पीटीएस उमरिया में बिगुलर के पद पर पदस्थ आरक्षक और दो साथियों को वन विभाग की टीम ने पेंगोलीन के साथ गिरफ्तार किया। इस कार्रवाई में एसटीएफ जबलपुर एसपी नीरज सोनी, बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व के फील्ड डायरेक्टर विसेंट रहीम, आरडीडी अभिजीत राय चौधरी, मानपुर रेंजर पवन ताम्रकार, कमलेश नंदा सहित अन्य अधिकारी-कर्मचारियों की टीम शामिल रही। बताया जा रहा है कि कटनी के आसपास पेंगोलीन शिकारियों का बड़ा नेटवर्क सक्रिय है, जिसे तोडऩे की लगातार कोशिशें जारी हैं।

यह भी जानें
- विलुप्त होने वाले वन्यप्राणियों की श्रेणी में पेंगोलीन को अनुसूची एक में रखा गया है। इसमें बाघ, तेंदुआ, हाथी व दूसरे वन्यप्राणियों को रखा गया है।
- चीन और ताइवान में पेंगोलीन के सूप की डिमांड के कारण तस्करी हो रही है। यहां बेमौत पेंगोलीन मारे जा रहे हैं।
- पेंगोलीन के सिर से अर्नामेंट और शरीर के दूसरे हिस्से से बटन बनाया जाता है। बटन प्लास्टिक से मजबूत होने के कारण महंगे कपड़ों में लगाई जाती है।

Show More
narendra shrivastava Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned