सुरक्षा से जानलेवा खिलवाड़: इस बड़े स्टेशन में रेलवे प्रबंधन बरत रहा गंभीर लापरवाही, देखें वीडियो

मुड़वारा रेलवे स्टेशन में रेलवे प्रबंधक की गंभीर लापरवाही, चिकित्सक सहित जांच करने वाला स्टॉफ नदारद, बिना जांच के आ-जा रहे यात्री, जिम्मेदार बेखबर

By: balmeek pandey

Published: 05 Oct 2020, 11:05 AM IST

कटनी. मुड़वारा रेलवे स्टेशन में रेलवे प्रबंधन द्वारा यात्रियों की सुरक्षा में गंभीर लापरवाही बरती जा रही है। रेलवे मुख्यालय द्वारा स्पष्ट निर्देश है कि ट्रेनों में सफर करने वाले यात्रियों की स्टेशन में पहुंचने से पहले प्लेटफार्म में प्रवेश करने के पहले बकायदा जांच होगी। यात्रियों का कन्फर्म टिकट चेक किया जाएगा, उसके बाद थर्मल स्क्रीनिंग, ऑक्सीजन, पल्स रेट सहित अन्य जांच की जाएगी। यदि किसी भी मरीज को कोई दिक्कत है, यात्रियों को किसी प्रकार से कोरोना वायरस के संक्रमण के लक्षण लग रहे हैं या फिर किसी गंभीर बीमारी से ग्रसित है तो फिर उसे यात्रा नहीं करने दी जाएगी। लेकिन मुड़वारा रेलवे स्टेशन में यदि कोरोना वायरस पॉजिटिव भी यात्रा करके चला जाए तो फिर इसे देखने वाला कोई नहीं है, क्योंकि यहां पर यात्रियों की सुरक्षा से स्थानीय रेलवे प्रशासन द्वारा खुला खिलवाड़ किया जा रहा है। स्टेशन में किसी भी प्रकार से यात्रियों की जांच नहीं हो रही। यहां पर टीसी स्टाफ द्वारा सिर्फ टिकट चेक करने की औपचारिकता पूरी की जा रही है। रेलवे के किसी भी जिम्मेदार अधिकारी का ध्यान नहीं है। स्टेशन पर लगातार जानलेवा बेपरवाही जारी है।

सुरक्षा से भी हो रहा खिलवाड़
पत्रिका से चर्चा के दौरान सीटीआइ संदीप श्रीवास्तव ने कहा कि स्टेशन प्रबंधक द्वारा पहले कर्मचारी उपलब्ध करा दिए जाते थे तो यहां पर यात्रियों की जांच कराई जाती थी, लेकिन कुछ दिनों से स्टॉफ मुहैया नहीं कराया जा रहा। इस वजह से जांच नहीं हो पा रही। टीसी स्टाफ कम होने के कारण सिर्फ टिकट चेक की जा रही है। बता दें कि स्टेशन में जमकर अनाधिकृत यात्री भी यात्रा कर रहे हैं, जिन्हें रोकने वाला कोई नहीं है। सीटीआइ ने कहा कि यदि बिना टिकट यात्री को रोका जाता है तो वह विवाद करता है। प्लेटफॉर्म में आरपीएफ और जीआरपी स्टॉफ भी नहीं रहता।

इनका कहना है
स्टेशन प्रबंधक द्वारा अब स्टॉफ मुहैया नहीं कराया जाता, जिससे जांच में परेशानी होती है। इसलिए जांच कुछ दिनों से बंद कर दी गई है। बिना टिकट के यात्री विवाद करते हैं। स्टेशन में आरपीएफ और जीआरपी भी नहीं रहती।
संदीप श्रीवास्तव, सीटीआइ मुड़वारा।

स्टेशनों में 24 घंटे स्टॉफ तैनात रहता है। स्टेशन में ट्रेनों के आने-जाने के समय आगे और पीछे पेट्रोलिंग करनी पड़ती है क्योंकि चोर चलती गाड़ी में चढ़ते और उतरते हैं। टिकट जांच में भी ड्यूटी लगाई जाएगी।
डीपी चड़ार, टीआइ जीआरपी।

यात्रियों की जांच क्यों नहीं कराई जा रही, स्टेशन प्रबंधन को तलब किया जाएगा। सुरक्षा को लेकर भी थाना प्रभारियों से चर्चा करेंगे। यात्रियों को जागरुकता का परिचय देना होगा, यदि वे कोरोना संक्रमित लग रहे हैं तो उन्हें जांच करानी चाहिए।
संजय विश्वास, डीआरएम।

Corona virus coronavirus
balmeek pandey Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned