#changemakers चेंजमेकर और बुद्धिजीवियों की बैठक में उठी आवाज, जनप्रतिनिधि ऐसा हो जिससे लोग ले सकें प्रेरणा, देखें वीडियो

balmeek pandey | Publish: Sep, 05 2018 12:02:42 PM (IST) | Updated: Sep, 05 2018 12:08:35 PM (IST) Katni, Madhya Pradesh, India

बड़वारा विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत ढीमरखेड़ा जनपद मुख्यालय में पत्रिका चेंजमेकर व बुद्धिजीवियों की बैठक का आयोजन

कटनी. बड़वारा विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत ढीमरखेड़ा जनपद मुख्यालय में पत्रिका चेंजमेकर व बुद्धिजीवियों की बैठक का आयोजन किया गया है। इस दौरान बुद्धिजीवियों ने वर्तमान राजनीति के परिदृश्य पर चर्चा करते हुए स्वच्छ राजनीति के इस महायज्ञ के बारे में चर्चा की। बैठक में लोगों ने कहा कि अब वक्त आ गया युवाओं को और साफ-सुथरी के छवि के लोगों का राजनीति में आने का। संजय निकुंज उद्यान में आयोजित बैठक के दौरान चेंजमेकर अजय गोटिया ने कहा कि पत्रिका सामाजिक सरोकार, स्वच्छ पत्रकारिता की मिसाल पेश की है। वक्त आ गया है महा बदलाव का। राजनीति में बेदाग, समाज के प्रति संवेदना से भरा हुआ, देश प्रेम की भावना से ओतप्रोत और पढ़े-लिखे व्यक्ति को राजनीति में आकर देश को उच्च शिखर पर ले जाने के लिए काम करना होगा। बैठक में अजय गोटिया के साथ भरत नामदेव, संतोष पाल, अशोक सिंह, अशोक रजक, संतोष सेन, सुनील सिंह, दिनेश विश्वकर्मा, गिरानी चक्रवर्ती, विष्णु चक्रवर्ती, राजेश बर्मन सहित अन्य लोगों की उपस्थिति रही। अजय गोटिया ने कहा कि आज की राजनीति में आम जनता पिसती जा रही है। युवाओं को अब आगे आकर राजनीति के परिवर्तन के इस महायज्ञ में आहूति देनी होगी। युवा देश का भविष्य है वह स्वयं जब राजनीति में उतरेगा तभी राजनीति का शुद्धीकरण संभव हो सकेगा। इस अवसर पर युवाओं ने राजनीति को स्वच्छ करने के लिए हाथ उठा कर संकल्प लिया।

बेबाकी से रखी बात
अजय गौटिया ने कहा कि पत्रिका ने बहुत अच्छी मुहिम चलाई है। इस देश के लोगों को, अंतिम छोर तक के व्यक्ति को जगाकर सराहनीय काम किया है। साफ-सुथरी मुहिम चलाई है। प्रदेश में देश में जनप्रतिनिधि कैसा होना चाहिए और आम पब्लिक से आम जनमानस से ये पूछ रहे हैं कि जो भी प्रतिनिधित्व करता है उसकी पृष्ठभूमि क्या होनी चाहिए। पहली बाद तो वह अपने आप में ही सुथरा हो तभी समाज का विकास कर सकता है। राजनीति में जिस दल से भी व्यक्ति आये आपराधिक प्रवृत्ति का नहीं हो। उसके अंदर जात-पात की भावना नहीं होना चाहिए। जिस क्षेत्र से वह चुना जाता है वहा के सभी नागरिक उसके हो जाते हैं, इसलिए द्वेश की भावना नहीं होना चाहिए। उनके अंदर देश प्रेम हो। भारतीय दंड संहिता पालन करने वाला हो। उससे आम जनमानस भी प्रेरणा ले ऐसा जनप्रतिनिधि हो। नशा से दूर रहे तभी देश में बदलाव आएगा।

100 फीसदी मतदान पर दिए जोर
पत्रिका महाअभियान के सहयोगियों ने कहा कि स्वच्छ राजनीति के लिए शत-प्रतिशत मतदान होना चाहिए। तभी देश व समाज में बदलाव आएगा। भरत नामदेव ने कहा कि जरूरत इस बात की है कि इसके लिए लोगों को प्रेरित किया जाएगा। इस दौरान अशोक सिंह ने कहा कि पत्रिका का यह महाअभियान जरूर बदलाव लाएगा। देश हित में स्वच्छ राजनीति से ही बेहतर समाज की स्थापना होगी। राजनीति में अच्छे लोग आगे आएंगे। मजदूरों का शोषण बंद होना चाहिए। इस समय तेंदूपत्ता संग्रहण करता खासे परेशान हैं। वन अधिकार को लेकर आदिवासी समुदाय परेशान है। निचले तबके के लोगों को सुदृढ़ करने पर मुहिम चलनी चाहिए। पत्रिका का चेंजमेकर अभियान सार्थक सिद्ध होगा। राजनीति करने वालों की भावना सत्ता और रुपयों की तरफ है देश और विकास की तरफ रहीं है। इस पर फोकस करना बहुत आवश्यक है।

समाजसेवकों को राजनीति में आने की जरूरत
संतोष सेन ने कहा कि अब वक्तधन-बल का नहीं रहा है। मौजूदा वक्त में राजनीतिक दल येन-केन प्रकारेण सत्ता में बना रहना चाहते हैं। इसलिए आपराधिक छवि के लोगों को राजनीति में आने को मौका दे रहे हैं। बेहतर लोकतंत्र के लिए मतदान प्रतिशत बढ़ाने के साथ ही अच्छे लोगों की भागीदारी भी जरूरी है। समाजसेवकों को राजनीति में आने की जरूरत है। तभी राजनीति स्वच्छ एवं स्वस्थ होगी।

योग्य लोगों की राजनीति की आवश्यकता
बैठक में चेंजमेकर्स अजय गोटिया ने पत्रिका की इस मुहिम को सराहते हुए कहा कि युवाओं को आगे आना का अवसर मिल रहा है। उनको राजनीति को स्वच्छ करने में अपना योगदान देना चाहिए। युवा नेता सुनील सिंह, दिनेश विश्वकर्माने कहा कि राजनीति में स्वच्छता के लिए केवल बातें करने के बजाए राजनीति को स्वच्छ करने के लिए खुद शामिल होकर योगदान देना चाहिए। तभी राजनीति में बदलाव आएगा। गिरानी चक्रवर्ती, विष्णु चक्रवर्ती ने कहा कि अब योग्य लोगों की राजनीति की आवश्यकता है। प्रतिनिधि ऐसा योग्य व्यक्ति होना चाहिए जो क्षेत्र की जनता से रूबरू हो और उनकी समस्याओं से अवगत हो। पत्रिका के इस अभियान से आशा है कि क्षेत्र के योग्य उम्मीदवार राजनीति में आगे आकर क्षेत्र का सही मायने में विकास करेंगे। राजेश बर्मन ने कहा कि राजनीति शुद्धिकरण अब प्राथमिकता बन गई है।

Ad Block is Banned