मुख्य मार्ग में जानलेवा गड्ढे, सड़क मरम्मत में हुई रस्मअदायगी

गर्ग चौराहा से घंटाघर तक ही भरे गए गड्ढे, वीआइपी रोड में भी लगे डामर के थिगड़े, शहरवासियों को आवागमन हो रही गंभीर परेशान

 

By: balmeek pandey

Published: 21 Jul 2021, 08:58 PM IST

कटनी. शहर की मुख्य सड़क जर्जर है। जगन्नाथ तिराहा से लेकर घंटाघर तक सड़क के परखच्चे उड़े हैं। पत्रिका द्वारा शहर की जर्जर सड़कों के कारण लोगों को आवागमन में हो रही परेशानी को प्रमुखता से उजागर किया, जिसके बाद नगर निगम ने कुछ जगह पर मरम्मत कार्य की औपचारिकता कराई गई, लेकिन अभी भी अधिकांश सड़क में जानलेवा गड्ढे हैं। आए दिन हादसे हो रहे बावजूद इसके मरम्मत कार्य नहीं कराया जा रहा। गर्ग चौराहा से लेकर घंटाघर तक गड्ढों को भरा गया है। व कचहरी चौक के आगे से लेकर वीआइपी रोड के जोड़ तक डामर के थिगड़े लगाने की औपचारिकता हुई है।
शहर की सड़क में जानलेवा गड्ढें हो गए हैं और नगर निगम के अफसर इस मार्ग का पेंचवर्क कराना भी मुनासिब नहीं समझे। अब बारिश का दौर चल रहा है, जिससे गड्ढे और भी खतरनाक साबित होंगे। ऐसे में हर दिन इस मार्ग से लोग हिचकोले खाते हुए निकल रहे हैं। वाहनों के फंसने के कारण या उनके बचकर वाहन चालक निकलते हैं तो मुख्य मार्ग में जाम की स्थिति बनती है। बता दें कि पूर्व में नगर निगम ने शहर की कुछ सड़कों में मरम्मत कार्य कराया है, लेकिन इस मार्ग का पेंचवर्क नहीं कराया। सबसे ज्यादा समस्या कनकने स्कूल मोड़ से लेकर सिद्धबाबा मंदिर तक है। यहां पर कई भारी-भरकम गड्ढे बने हैं जो हादसे को दावत दे रहे हैं।

चौड़ाई बढ़ाने अफसरों का नहीं ध्यान
बता दें कि इस मार्ग को चौड़ा होना है। फेज-1 माई नदी से लेकर जुहला बाईपास तक का काम नगर निगम के अफसर अभी तक पूरा नहीं करा पाए हैं। ठेकेदार त्रिशूल कंस्ट्रक्शन द्वारा जमकर मनमानी की गई, लेकिन ननि ने कोई कार्रवाई नहीं की। वहीं शहरी क्षेत्र में अतिक्रमण हटाने में ननि व प्रशासन का पसीना छूट रहा है। इसमें राजनीति में सक्रिय लोगों के करीबी होने के चलते वोटबैंक की राजनीति आड़े आ रही है। बता दें कि फरवरी 2020 में अतिक्रमण चिन्हित कर हटाते हुए मार्ग चौड़ा करना था, लेकिन अभी तक नहीं किया गया और ना ही सीवर लाइन का काम इधर शुरू हुआ। शहवारियों का कहना है कि नगर निगम के प्रशासक कलेक्टर प्रियंक मिश्रा भी सिर्फ ननि के कार्यों की समीक्षा में औपचारिकता कर रहे हैं।

इनका कहना है
शहर की कुछ सड़कों का कुछ दिन पूर्व मरम्मत कार्य कराया गया है। गड्ढों में गिट्टी व डस्ट भी डलवाई गई है। यदि कहीं पर ज्यादा समस्या है तो उसे ठीक कराएंगे, ताकि लोगों को आवागमन में असुविधा न हो। सड़क चौड़ीकरण होना है व सीवर लाइन डलना है, इसलिए नवीन सड़क नहीं बन पा रही।
सत्येंद्र कुमार धाकरे, आयुक्त ननि।

balmeek pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned