बूंदबूंद पानी को परेशान ग्रामीण, हाइस्कूल ना होने से 12 किलोमीटर का चक्कर काटती है बेटियां

गांव में मूलभूत सुविधाओं से परेशान बस्ती के लोग, बहोरीबंद क्षेत्र की ग्राम पंचायत किवलरहा में है समस्या

By: balmeek pandey

Published: 22 Mar 2021, 09:21 AM IST

कटनी. बहोरीबंद तहसील की ग्राम किवलरहा के विद्यार्थी व रहवासी कई गंभीर समस्याओं से जूझ रहे हैं। ग्रामीणों की मानें तो जिम्मेदारों द्वारा समस्या समाधान की ओर विशेष ध्यान नहीं दिया जा रहा। ग्रामीणों ने कहा कि विद्यार्थी चाह रहे हैं कि उन्हें बेहतर शिक्षा मिल जाए, लेकिन वे इसके लिए तरस रहे हैं, खासकर बेटियों के लिए अधिक परेशानी है। शासकीय माध्यमिक शालाओं को हाइस्कूल में उन्नयन कर रही है, लेकिन बहोरीबंद विकास खंड ग्राम पंचायत किवलरहा ऐसी ग्राम पंचायत है जहां पर 1260 से अधिक की आबादी होने के बाद भी हाइस्कूल नहीं है। ग्रामीणों का कहना है कि यहां पर हाइस्कूल का नितांत आवश्यकता है। ग्रामीणों द्वारा अनेकों बार जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों को पत्र लिखकर मांग की जा चुकी है, स्कूल न खुल पाने से बीच में एक नाला पड़ता है, उस नाला के कारण चार माह के लिए रास्ता बंद हो जाता है, जिससे 12 किलोमीटर दूरी तय करके सिहुडी व बाकल हाइस्कूल जाना पड़ता है। ग्रामीण निवासी हृदय से ठाकुर, बलवान ठाकुर, सुदर्शन ठाकुर, रणजीत सिंह ठाकुर, प्राण सिंह ठाकुर, सत्यम ठाकुर, वीरन ठाकुर सहित अन्य ग्रामीणों ने बताया कि कंचनपुर और किवलरहा के बीच में नाला पड़ता है जो कि उच्च अधिकारियों ने कई बार आकर इसका सर्वे किया, लेकिन नाले का कार्य आज तक प्रारंभ नहीं किया गया, जिससे हमारी बेटियां व गांव के बेटे बारिश के समय 4 माह चक्कर काटकर की हाईस्कूल पहुंचते हैं।

ग्राम-किवलहरा
ग्राम पंचायत-किवलरहा
आबादी-1260
तहसील-बहोरीबंद
जिला-कटनी

पेयजल की भी है समस्या
ग्रामीणों ने बताया कि पंचायत द्वारा गांव में कोई सुविधा नहीं कराई जा रही। मवेशी व हम सभी ग्रामीण एक एक बूंद पानी के लिए तरस रहे हैं। गांव में दो हैंडपंप है जिसमें घंटों इंतजार करने के बाद चार डिब्बा पानी निकलता है। वहीं हैंडपंप भी साथ छोड़ रहे हैं। पीने के पानी की किल्लत बनी रहती है। पंचायत कई बार इस बारे में अवगत कराया गया, लेकिन ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

इनका कहना है
ग्रामीणों को पेयजल सहित जो भी अन्य समस्याएं हैं उन्हें तत्काल दिखवाया जाएगा। आवश्यक कार्रवाई के लिए जनपद सीइओ को निर्देशित किया जाएगा। गर्मी में पेयजल के लिए परेशानी न हो, इसका ध्यान रखा जाएगा।
जगदीशचंद्र गोमे, जिपं सीइओ।

balmeek pandey Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned