जेल से भागे तीन हत्याओं के आरोपी को पुलिस ने कुछ इस तरह से पकड़ा

कटनी पुलिस ने आम आदमी बनकर जुटाई जानकारी, आरोपी से दूर एक कमरा लेकर मां भी रहती थी किराए पर, सुबह-शाम भोजन पहुंचाने से हुआ खुलासा.
- जेल से भागे तीन हत्याओं के आरोपी को पकडऩे पुलिस ने पड़ोस में लिया किराए का कमरा फिर दबोचा.

By: raghavendra chaturvedi

Published: 13 Oct 2021, 04:11 PM IST

कटनी. जिले के विजयराघवगढ़ थानाक्षेत्र के पडख़ुरी गांव ससुराल में वर्ष 2016 में ससुर और दो साले की हत्या में गिरफ्तार विचाराधीन कैदी देवी सिंह (34) निवासी भौहरी थाना सनोधा जिला सागर के जेल से भागने के 31 दिन बाद ही पुलिस ने इंदौर से धर दबोचा। कैदी देवी सिंह जिला अस्पताल कटनी से इलाज करवाने के दौरान 9 सितंबर 2021 की रात भाग गया था। तब चार पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया था।

कटनी से भागकर विचाराधीन कैदी इंदौर में किराए का मकान लेकर मजदूरी करने लगा था। इस बीच कटनी कोतवाली टीम को पता चला कि देवी सिंह इंदौर में है तो उसे पकडऩे की सटीक योजना बनाई गई। इसके लिए कोतवाली पुलिस की टीम ने इंदौर में आरोपी के किराए के मकान के समीप ही 10 अक्टूबर को एक कमरा किराए से लिया। वहां ठहरे और आपस में चर्चा की। पूरी जानकारी स्पष्ट होने के बाद 11 अक्टूबर को आरोपी को गिरफ्तार किया।

पुलिस को जानकारी मिली कि कैदी की मां आरोपी जहां किराए से रह रहा था उससे कुछ दूरी पर वह भी किराए से रह रही थी और रोज सुबह-शाम भोजन लेकर जाती थी। मां के भोजन लेकर जाने के दौरान पुलिस ने पीछा किया और फरार कैदी तक पहुंची।

एसपी सुनील जैन ने बताया कि आरोपी को पकडऩे पर बीस हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया था। टीम में शामिल अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनोज केडिया, सीएसपी शशिकांत शुक्ला, थाना प्रभारी कोतवाली अजय बहादुर सिंह, एनकेजे थाना प्रभारी उप निरीक्षक नीरज दुबे, सहायक उपनिरीक्षक कप्तान सिंह, दुर्गेश तिवारी, प्रधान आरक्षक वीरेंद्र तिवारी, अनिल सिंह सेंगर, वीरेंद्र सिंह पुष्पराज सिंह, लालजी यादव, रामेश्वर सिंह, साइबर सेल विभाग के आरक्षक प्रशांत विश्वकर्मा को पुरस्कृत किया जाएगा।

raghavendra chaturvedi Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned