कीचड़ से परेशान नागरिक, आयुक्त से लेकर महापौर तक लगाई गुहार, नहीं सुनी तो खुद चंदा कर बनवा रहे सड़क, देखें वीडियो

balmeek pandey | Publish: Aug, 12 2018 05:43:17 PM (IST) | Updated: Aug, 12 2018 05:45:37 PM (IST) Katni, Madhya Pradesh, India

राम मनोहर लोहिया वार्ड में अहमदनगर का मामला

कटनी. शहर के राममनोहर लोहिया वार्ड स्थित अहमदनगर के लगभग 150 घरों में रह रहे एक हजार से अधिक लोग 15-20 साल से कच्ची सड़क और कीचड़ से परेशान थे। पक्की सड़क बनवाने नगर निगम के पार्षद, इंजीनियर, आयुक्त से लेकर महापौर तक कई बार फरियाद लगाई, पत्र दिया और मांग की। नगर निगम के जब जिम्मेदारों ने नागरिकों की बात को नहीं सुना तो नागरिक स्वयं आगे आए और चंदा एकत्रित कर सड़क बनवा रहे हैं। स्थानीय निवासी अनवारुल कैय्यूम अध्यक्ष अहमदनगर मस्जिद कमेटी, मकबूल अहमद, हाफिज तौफीक, जमाल अंसारी, आजम अंसारी, अब्दुल रज्जाक, शंकर, फैज अहमद, मोहम्मद शफीक खान, इसराज इंजीनियर, अफरोज इंजीनियर, नसीम अंसारी, मोहम्मद शकील सहित वार्ड के अन्य लोगों ने चंदा एकत्रित किया और सड़क बनवा रहे हैं। इसमें किसी ने 200 रुपए तो किसी ने 500 व 5 हजार रुपए दिया है। किसी ने ट्रक, तो किसी ने जेसीबी व रोलर देकर सड़क निर्माण में सहयोग कर रहे हैं।

लगभग 2 किलोमीटर बनवा रहे सड़क
कटनी-मैहर मार्ग से लेकर वार्ड तक लगभग 2 किलोमीटर की लंबी सड़क को बनवा रहे हैं। मुख्य मार्ग सहित अलग-अलग गली में जाने के लिए सड़क को बनवाया जा रहा है। इसमें मिट्टी, मुरम सहित गिट्टी, गिट्टी की चूरी डलवाकर जेसीबी और रोलर के माध्यम से उसे प्लेन किया गया है। इसके बाद ऊपर से सड़क बनवाई जाएगी। अभी तक स्थानीय लोगों ने डेढ़ लाख से अधिक चंदा दिया है। धीरे-धीरे राशि में बढ़ोत्तरी हो रही है। लोग स्वप्रेरणा से आगे आकर सड़क निर्माण में सहयोग कर रहे हैं।

नगर निगम व जनप्रतिनिधियों पर उपेक्षा का आरोप
स्थानीय निवासी अनवारुल कैय्यूम ने कहा कि यहां पर सिर्फ वोट की राजनीति होती है। जब चुनाव आते हैं तो सभी जनप्रतिनिधि सक्रिय हो जाते हैं। विकास कार्यों के लिए आश्वासन देते हैं लेकिन जीतने के बाद कोई यहां देखने तक नहीं आता। वार्ड में स्थिति यहां तक आ बनी है कि स्कूल आने-जाने वाले वाहनों का आना-जाना बंद हो गया है, बच्चे समय पर स्कूल नहीं पहुंच पा रहे हैं। थोड़ी सी बारिश होने पर यहां दलदल में सड़क तब्दील हो जाती थी। लोगों को आवागमन में भारी परेशानी होती है। रोज रोज की परेशानी से तंग आकर के लोगों ने यह निर्णय लिया है। स्थानीय निवासियों ने बताया कि वार्ड पार्षद भी इस समस्या पर कोई ध्यान नहीं दे रहे।


गंभीर समस्या से महापौर अनजान
इस पूरे मामले को लेकर महापौर शशांक श्रीवास्तव का कहना है कि उन्हें पता ही नहीं हैं कि अहमद नगर में इतनी ज्यादा सड़क खराब है। महापौर ने यह भी कहा कि नगर के लोग कभी ऐसी समस्या लेकर उनके पास कभी गए ही नहीं, नहीं तो नगर निगम से नहीं तो वे जन सहयोग मांगकर अवश्य मार्ग चलने लायक बनवाते। यदि मार्ग खराब है तो इसका अवलोकन करेंगे समस्या का समाधान कराएंगे।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned