विद्यार्थियों की समस्या के बारे में बताने से पीछे हटे कॉलेजों के प्राचार्य

आयुक्त उच्च शिक्षा व कुलपति के आदेश का नहीं किया पालन, जिलेभर के १५ सरकारी व निजी कॉलेजों के प्राचार्य नहीं आए बैठक में

By: dharmendra pandey

Published: 15 Jan 2018, 10:01 AM IST

कटनी. विद्यार्थियों की समस्याओं का निवारण करने में जिले के अधिकांश सरकारी व निजी कॉलेजों के प्राचार्य उत्सुक नहीं है। जिसके चलते शनिवार को शासकीय तिलक कॉलेज में हुई समस्या निवारण शिविर की बैठक में आए ही नहीं। कुर्सियां खाली रहीं। साथ ही आयुक्त उच्च शिक्षा विभाग भोपाल व रानी दुर्गावती यूनिवर्सिटी जबलपुर के कुलपति के आदेशों का पालन भी नहीं किया। खुलेआम अवहेला की।
उच्च शिक्षा विभाग द्वारा यूनिवर्सिटियों को विद्यार्थियों की समस्याओं का समाधान करने के लिए समस्या निवारण शिविर आयोजित करने के आदेश दिए हैं। सरकार के इस आदेश पर रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय जबलपुर द्वारा १७, १८ व १९ जनवरी को शिविर का आयोजन किया जा रहा है। इस संबंध में शनिवार को शासकीय तिलक कॉलेज के प्राचार्य डॉ. सुधीर खरे द्वारा बैठक बुलाई गई थी। इसमें सभी कॉलेजों के प्राचार्यों को छात्र समस्या के बारे में जानकारी देनी थी, लेकिन जिले के १० कॉलेजों के प्राचार्य ही जानकारी देने में उत्सुक दिखे। १५ सरकारी व निजी कॉलेजों के प्राचार्य बैठक में ही नहीं आए। दूरी बनाए रखी।

१० कॉलेजों के प्राचार्य हुए शामिल:
-शासकीय तिलक कॉलेज।
-शासकीय कन्या महाविद्यालय।
-शासकीय महाविद्यालय विजयराघवगढ़।
-शासकीय महाविद्यालय बहोरीबंद।
-शासकीय महाविद्यालय बड़वारा।
-श्रमधाम कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय।
-कैमोर विज्ञान महाविद्यालय।
-राजीव गांधी कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय।
-बारडोली शिक्षा महाविद्यालय।
-सांईनाथ नर्सिंग महाविद्यालय।

१५ कॉलेजों के प्राचार्यों ने बरती लापरवाही, बनाई दूरी:
-शासकीय महाविद्यालय बरही।
-शासकीय महाविद्यालय स्लीमनाबाद।
-शासकीय महाविद्यालय सिलौंड़ी।
-शासकीय महाविद्यालय ढीमरखेड़ा।
-शासकीय महाविद्यालय उमरियापान।
-कटनी कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय।
-सिल्किोबाइट डिग्री कॉलेज।
-श्रीनिवास सरावगी कॉलेज।
-सायना कॉलेज।
-नालंदा कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय।
-टेबाइट बीएड ट्रेनिंग कॉलेज।
-श्री वर्धमान शिक्षा महाविद्यालय।
-पंडित द्वारिकादास महाविद्यालय।
-एमजीएम नर्सिंग महाविद्यालय।
-महर्षि महेश योगी वैदिक विवि करौदी।

नोटिस जारी किया गया है:
समस्या समाधान शिविर को लेकर कॉलेज में बैठक हुई थी। इसमें जिलेभर के सरकारी व निजी कॉलेजों के प्राचार्यों को बुलाया गया था। जिन कॉलेजों के प्राचार्य बैठक में नहीं आए, उनसे जबाव मांगा जाएगा। इसके लिए नोटिस जारी किया गया है। जानकारी भी आयुक्त उच्च शिक्षा व कुलपति को भेजी जाएगी।

डॉ. सुधीर खरे, प्राचार्य, तिलक कॉलेज।

Patrika
dharmendra pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned