scriptprivate hospital, extension, registration, canceled, health department | निजी अस्पताल संचालकों के आगे झुका प्रशासन | Patrika News

निजी अस्पताल संचालकों के आगे झुका प्रशासन

locationकटनीPublished: Nov 20, 2022 05:48:54 pm

संचालक पुरानी बिल्डिंग का हवाला देकर बिना सुविधा व सुरक्षा अस्पताल संचालन की मांगते रहे रियायत

private hospital, extension, registration, canceled, health department, katni news
private hospital, extension, registration, canceled, health department, katni news

कटनी। जबलपुर स्थित लाइफ केयर अस्पताल में आग लगने के बाद पर्याप्त सुरक्षा इंतजाम न होने से कई मरीजों की मौत हो गई। शहर में भी ऐसी स्थिति न बने इसके लिए फायर सेफ्टी नियमों का पालन सुनिश्चित करने प्रशासन ने कार्रवाई शुरू हुई। वर्षों से संचालित निजी नर्सिंग होम फायर व इलेक्ट्रॉनिक सेफ्टी नियमों को ताक पर रखकर चलते मिले। प्रशासन ने सख्ती की तो अस्पताल संचालक रियायत मांगने लगे। प्रशासन ने निर्धारित समयावधि के लिए रियायत दी फिर भी अस्पतालों ने मानक पूरे नहीं किए। स्वास्थ्य विभाग ने अस्थाई फायर एनओसी जमा न करने पर पंजीयन निरस्त करने की चेतावनी दी। पत्र जारी कर शनिवार को कलेक्टर की अध्यक्षता में प्राइवेट अस्पताल संचालकों के साथ बैठक बुला ली। बैठक में कलेक्टर अवि प्रसाद तो नहीं पहुंचे लेकिन जिला पंचायत सीइओ शिशिर गेमावत की अध्यक्षता में बैठक हुई। सीइओ, स्वास्थ्य विभाग व नगरनिगम के अधिकारियों ने अस्पताल संचालकों से करीब 1 घंटे तक चर्चा की लेकिन यह निर्णय नहीं हो सका कि शासन के नियमों पर खरा न उतरने वाले अस्पतालों पर प्रशासन कार्रवाई करेगा या फिर राहत देते हुए कार्रवाई ठंडे बस्ते में डाल दी जाएगी। हालांकि सवाल यह उठ रहे हैं कि यदि जबलपुर की तरह कटनी में भी हादसा होता है तो इसके लिए जिम्मेदार कौन होगा।

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.