निजी अस्पताल मानवता की सेवा मानकर करें कोरोना मरीजों का इलाज

जिले में कोरोना संक्रमण चिंताजनक स्थिति की ओर कलेक्टर ने बुलाई डॉक्टर और निजी अस्पताल प्रबंधन की बैठक.

By: raghavendra chaturvedi

Updated: 15 Sep 2020, 03:07 PM IST

कटनी. जिले में कोरोना संक्रमण में अचानक बढ़ोतरी के साथ ही अब प्रशासन भी अलर्ट मोड पर आ गया है। सोमवार को कलेक्टर एसबी सिंह ने स्वास्थ्य अधिकारियों की विशेष बैठक बुलाई। इसमें शासकीय और अशासकीय चिकित्सा संस्थाओं में कोरोना सहित अन्य बीमारियों का इलाज केन्द्र सरकार और राज्य सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी दिशा-निर्देशों और प्रोटोकॉल गाईडलाईन के अनुसार ही करने के निर्देश दिये।

कलेक्टर ने दो टूक कहा कि आयुष्मान योजना और गंभीर बीमारी के इलाज हेतु इम्पेनेल्ड निजी अस्पतालों में दिये जा रहे उपचार और चिकित्सा सुविधाओं मानवता की सेवा मानकर इलाज किया जाए। कोविड-19 के मरीजों के उपचार की गाईड लाईन तय है। जबलपुर और इन्दौर में हर गतिविधि के रेट तय हुये हैं। दवाओं, उपचार, परीक्षण एवं अन्य चिकित्सा रोगी सुविधाओं में निर्धारित फीस से अधिक नहीं ली जाये।

कटनी जिले में जबलपुर के प्रचलित दरें ही लागू करने का निर्णय लिया गया है। बैठक में सीएमएचओ डॉ. आरबी सिंह, सीएस डॉ. यशवंत वर्मा, कोरोना रेपिड टीम प्रभारी डॉ. समीर सिंघई सहित जिले की निजी अस्पतालों के प्रबंधक और चिकित्सक भी मौजूद रहे।

Corona virus
raghavendra chaturvedi Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned