एक माह दबा रहा पटाखे पर प्रतिबंध का आदेश, दीपावली से दो दिन पहले लागू होने का विरोध

बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन कर सौंपा ज्ञापन, पटाखा व्यापारियों ने कहा- बर्बाद हो जाएंगे.

By: raghavendra chaturvedi

Published: 13 Nov 2020, 11:59 PM IST

कटनी. वातावरण में बढ़ते प्रदूषण को कम करने के लिए पटाखों की बिक्री और उपयोग पर एनजीटी द्वारा 9 अक्टूबर से जारी प्रतिबंध का कटनी में एक माह बाद पालन होने के बाद विरोध प्रदर्शन तेज हो गया है। गुरूवार को बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने दीपावली त्योहार से दो दिन पहले प्रतिबंध लगाने का कड़ा विरोध किया। वहीं व्यापारियों ने कहा कि पटाखों की खरीददारी हो गई है ऐसे में दीपावली से दो दिन पहले बिक्री और उपयोग पर प्रतिबंध से व्यापारी आर्थिक नुकसान से बर्बाद हो जाएंगे।

बतादें कि राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) द्वारा एक प्रकरण में आदेशित किया गया है कि एनसीआर में वायु प्रदूषण को देखते हुये 9 अक्टूबर की मध्यरात्रि से 30 नवंबर 2020 की मध्यरात्रि तक सभी प्रकार के पटाखे बैन किये जायें। इसी प्रकार देश के अन्य शहरों एवं कस्बों में भी जहां 9 नवम्बर 2019 में परिवेशीय वायु की गुणवत्ता रिपोर्ट खराब पाई गई है, उन शहरों एवं कस्बों में भी यह आदेश लागू होंगे।

मध्यप्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की ओर से नवम्बर 2019 की स्थिति में जारी परिवेशीय वायु की गुणवत्ता रिपोर्ट के अनुसार कटनी जिले की एक्यूआई 281 पाई गई थी। प्रदूषण में एक्यूआइ 201 से 3 सौ तक सामान्य स्तर माना गया है।

इधर, प्रशासन के निर्णय के विरोध में गुरूवार को विश्व हिन्दू परिषद बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया। इस अवसर पर जिला सह सयोजक राहुल दुबे, जिला सह मंत्री सुदर्शन नामदेव, जिला सहमंत्री विनीत तिवारी, एकल अभियान जिला प्रमुख विवेक तिवारी सहित अन्य कार्यकर्ता मौजूद रहे।

 

Member of Fireworks Association meeting MLA Sanjay Pathak.
विधायक संजय पाठक से मुलाकात करते पटाखा एसोसिएशन के सदस्य. IMAGE CREDIT:

कलेक्टर के निर्देश का एसोसिएशन ने किया विरोध
दीपावली उत्सव पर इस बार प्रदूषण का साया रहेगा। शहर में पटाखों की बिक्री और उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। कलेक्टर ने यह प्रतिबंध राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) नईदिल्ली द्वारा पारित आदेश और मध्यप्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की ओर से नवम्बर 2019 की स्थिति में जारी परिवेशीय वायु गुणवत्ता की रिपोर्ट के आधार पर लगाया है। इसमें 9 अक्टूबर की मध्य रात्रि से 30 नवंबर तक नगर निगम सीमा क्षेत्र में पटाखों की बिक्री और उपयोग प्रतिबंधित किया गया है।

इधर कलेक्टर के इस निर्देश का विरोध बुधवार को ही हुआ। पटाखा एसोसिएशन के सदस्य मध्यप्रदेश शासन के पूर्व मंत्री और विजयराघवगढ़ विधायक संजय पाठक से मुलाकात अपनी मांगे रखी। सदस्यों ने कहा कि यह निर्णय स्वीकार योग्य नहीं है। इससे पहले ऐसा कभी नहीं हुआ।

raghavendra chaturvedi Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned