शराबी कसते हैं फब्तियां, युवतियों और महिलाओं को हो रही परेशानी पर सड़क में उतरे ग्रामीण, देखें वीडियो

Balmeek Pandey | Publish: Sep, 03 2018 11:56:18 AM (IST) | Updated: Sep, 03 2018 11:58:05 AM (IST) Katni, Madhya Pradesh, India

शराब दुकान बंद कराने सड़क में उतरे ग्रामीण, किया प्रदर्शन, कन्हवारा मुख्य मार्ग स्थित शराब दुकान का मामला

कटनी/कन्हवारा. महिलाएं यदि मंदिर जाती हैं तो उन्हें फब्तियों का सामना करना पड़ता है..., बच्चियां स्कूल जाती हैं तो उन्हें शराबी नशे में चूर होकर कमेंट करते हैं, बस स्टैंड पहुंचने वाली महिलाओं-युवतियों को भी शराबियों की नशाखोरी से परेशानी हो रही है। नियम कायदों को ताक में रखकर कन्हवारा के बस स्टैंड में शराब दुकान का संचालन किया जा रहा है। इससे न सिर्फ युवा पीढ़ी बर्बाद हो रही है बल्कि नगर का माहौल खराब हो रहा है। यह बातें रविवार को कांग्रेस नेता महेंद्र सोनी ने कन्हवारा में शराब दुकान अन्यत्र स्थानांतरित किए जाने की मांग को लेकर किए जा रहे धरना प्रदर्शन के दौरान कहीं। इस दौरान बहोरीबंद विधायक सौरभ सिंह की विशेष उपस्थिति रही। कमलेश दाहिया, मोहन बत्रा, विक्रम खंपरिया, रमेश पाटकर, नारायण दास जलौन्हा, कुलदीप त्रिपाठी, सुनील निगम, जगन सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद रहे। इस दौरान ग्रामीणों ने शराब हटाओ-ग्राम बचाओ का नारा लगाया।

इस लिए समस्याप्रद है दुकान
प्रदर्शन कर रहे ग्रामीणों ने बताया कि शराब दुकान न सिर्फ मेन रोड में है बल्कि यहां पर मंदिर, स्वास्थ्य केंद्र और स्कूल भी है। यहां पर बच्चियों को आने-जाने में खासी परेशानी हो रही है। मंदिर पहुंचने वाले श्रद्धालुओं को शराबियों के जमावड़े के कारण परेशान होना पड़ता है। इतना ही नहीं स्वास्थ्य केंद्र भी मरीज इसी रास्ते से पहुंचते हैं। सुबह से लेकर शाम तक ग्रामीणों को शराबियों के उपद्रव से परेशान होना पड़ता है।

पांच गांव के लोग हुए शामिल
नियम विरुद्ध तरीके से शराब विक्रय होना लोगों के लिए बड़ा कष्टकारी हो गया है। रोज-रोज की समस्या से तंग होकर ग्रामीणों को सड़क पर उतरना पड़ा। प्रदर्शन में प्रदर्शन में चाका, लमतरा, पोड़ी, कन्हवारा, डिठवारा के सैड़कों महिला, पुरुष शामिल हुए। ग्रामीणों ने नारेबाजी कर अपनी आवाज बुलंद करते हुए शीघ्र कार्रवाई करने की मांग प्रशासनिक अफसरों से की।

एसडीएम को सौंपा ज्ञापन
ग्रामीणों द्वारा किए जा रहे प्रदर्शन की सूचना पर एसडीएम मौके पर पहुंचे। जब एसडीएम पहुंचे तो ग्रामीणों और और तेज नारेबाजी शुरू कर दी। ग्रामीणों ने कहा कि साहब! यदि शीघ्र ही शराब यहां से नहीं हटाई जाती तो ग्रामीण उग्र आंदोलन के लिए बाध्य होंगे। एसडीएम ने ग्रामीणों को सझझाइश दी, तबजाकर मामला शांत हुआ।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned