प्रति चक्रवात और पश्चिमी विक्षोभ से झमाझम बारिश, बड़ी राहत के साथ आफत भी

शहर सहित कई इलाकों में दो घंटे तक गिरा पानी, उपज बचाना चुनौती

By: balmeek pandey

Published: 20 Nov 2020, 09:23 AM IST

कटनी. मौसम के बिगड़े मिजाज ने किसानों को बड़ी चिंता में डाल दिया है। बुधवार को शहर सहित आसपास के इलाकों में बारिश हुई तो वहीं गुरुवार शाम को भी शहर व ग्रामीण क्षेत्रों में झमाझम का दौर जारी रहा। मौसम वैज्ञानिक संदीप कुमार चंद्रवंशी के अनुसार पश्चिमी मध्यप्रदेश के ऊपर प्रति चक्रवात 1.5 किलोमीटर की ऊंचाई पर बना हुआ है। साथ ही द्रोणिका 0.9 किलोमीटर की ऊंचाई सिक्किम से लेकर दक्षिण-पूर्व मध्यप्रदेश से गुजर रही है, जिसके चलते कटनी जिले में बारिश हो रही है। जम्मू काश्मीर के आसपास पश्चिमी विक्षोभ बना हुआ है जिसके कारण भी बारिश हो रही है। शुक्रवार को भी कई स्थानों पर बारिश होने की संभावना है। बता दें कि बारिश से गेहूं, चना आदि की बोवनी व दलहन के लिए बड़ा फायदा है, लेकिन जहां पर धान कटकर खलिहान में रखी है या उपज तैयार हो गई है तो उसे बचाना सबसे बड़ी चुनौती है।
मौसम विभाग ने एक दिन और ऐसा ही मौसम बना रहने और बादलों की लुकाछिपी के बीच बूंदाबांदी की संभावना जताई है। शनिवार से मौसम साफ होने लगेगा और फिर दिन और रात के तापमान में गिरावट आएगी। अरब सागर के मध्य में एक कम दवाब का क्षेत्र बन गया है। राजस्थान पर भी एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। तीन सिस्टम के कारण हवाओं का रुख भी दक्षिणी और दक्षिण-पश्चिमी हो गया है। हवा के साथ नमी आने के कारण बारिश का सिलसिला शुरू हो गया है।

balmeek pandey Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned