18 साल बाद खेतों में पहुंचा पानी, हजारों किसानों की खुशी का नहीं है ठिकाना

मनरेगा से संवरी नहरें, बनहरा तालाब के नहरों की हुई मरम्मत, क्षेत्र की 19 नहरों की चल रही मरम्मत, किसानों के लिए मिल रही बड़ी राहत

By: balmeek pandey

Published: 24 Dec 2020, 10:36 AM IST

कटनी. किसानों को यदि सिंचाई के लिए पर्याप्त पानी मिल जाए तो कृषि लाभ का धंधा बन सकती है। इस दिशा में जिला प्रशासन, जिला पंचायत व जल संसाधान विभाग ने कवायद शुरू की है। सालों से वीरान पड़े खेतों में जब पानी पहुंच रहा है तो किसानों के चेहरे खुशी से खिल उठ रहे हैं। मनरेगा से नहरों को संवारा जा रहा है। बड़वारा जनपद क्षेत्र के बनहरा तालाब से निकली नहर की मरम्मत कराई गई। जिससे अमाड़ी, नन्हवाराकला, नन्हवाराखुर्द व जुगिया की नहर जीर्ण-शीर्ण थी। किसानों के खेतों में पानी 18 वर्षों से नहीं पहुंच पा रहा था। खेतों में पानी पहुंचा तो किसानों ने बोवनी शुरू की है। किसानों न बताया कि सिंचाई न होने से रबी के लिए भूमि खाली पड़ी रहती थी। वर्तमान में ग्राम पंचायत नन्हवाराकला मनरेगा योजना अंतर्गत कार्य स्वीकृत होने पर नहर की साफ-सफाई व मेड़ की बधाई दुरुस्ती करण का कार्य कराया गया। गेहूं की फसल बोने के लिए सैकड़ों किसानों को समय पर पानी मिल गया। किसान प्रभु दयाल साहू, रम्मू लाल चौधरी, गजेंद्र सिंह राठौर, कामता सिंह राठौर, सुग्रीम सिंह राजपूत आदि किसान किसानों ने बताया कि नहर से पर्याप्त मात्रा में पानी आने लगा है। जिससे सभी किसानों के चेहरे में खुशी की लहर है। इस वर्ष किसानों की खेती में उत्पादन की मात्रा में बढ़ोतरी का भी अनुमान है। किसानों ने बताया कि लगभग 130 हेक्टेयर सिंचित भूमि के किसान नहर मरम्मत होने से लाभान्वित होंगे। बड़वारा क्षेत्र के अमाड़ी, अकराड़ी, दतला जलाश रूपौंद, माल्हन जलाशय, बछरवारा, लखाखेरा, खितौली जलाशय, जगुआ जलाशय, बरछेंका, मगरेहटा आदि जलाशय की नहरों के मरम्मत का कार्य चल रहा है।

पत्रिका की पहल लाई रंग
बता दें कि 3 जून को पत्रिका ने 'घायल बांधों को मेघों से पहले मरम्मत के मरहम की दरकार व 4 जून को 'मरणासन्न नहरों को मिल जाए मनरेगा की संजीवनी तो चलने लगेंगी सांसें' नामक शीर्षक से खबरें प्रकाशित की। जर्जर नहरों की स्थिति को उजागर किया, जिसको जिला पंचायत सीइओ जगदीशचंद्र गोमे ने गंभीरता से लिया और जिलेभर में नहरों के मरम्मत कवायद शुरू की गई। पत्रिका की पहल पर दर्जनों जलाशय के नहरों की मरम्मत कराई जा रही है। कई नहरों की मरम्मत हो चुकी है, किसानों के खेतों तक पानी पहुंचने लगा है।

इनका कहना है
बनहरा जलाशय के नहर की मरम्मत हो गई है। खेतों में सिंचाई के लिए 18 साल बाद पानी पहुंचा है। क्षेत्र की 18 नहरों की मरम्मत जारी है। किसानों को बड़ा फायदा होगा। यह कार्य मनरेगा से हो रहा है।
ज्ञानेंद्र मिश्रा, जनपद सीइओ बड़वारा।

balmeek pandey Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned