अब बिजली विभाग को सता रही बकाया 25 करोड़ वसूली की चिंता, कर रहे ये काम...

मासिक से हटाकर साप्ताहिक किया टारगेट, एक सप्ताह में वसूले दो करोड़ से अधिक

कटनी. बिजली बिल बकाया राशि की चिंता अब विभाग को सताने लगी है। बकाया वसूली में लगातार की जा रही मनमानी के बाद अब वसूली टारगेट मासिक से हटाकर साप्ताहिक कर दिया गया है। यानि बकाया राशि में वसूली को लेकर कर्मचारियों की जो समीक्षा एक माह में होती थी, अब हर सप्ताह होगी। वसूली में लापरवाही होने पर कार्रवाई भी होगी।
नवंबर माह में बिजली विभाग को जिले भर में घरेलू व कर्मिशयल बिजली बिल के बकायादारों से 25 करोड़ 17 लाख रुपये वसूलने हैं। जिसमें पांच हजार रुपये से अधिक की बकाया राशि व छह माह से अधिक समय से बिल जमा न करने वालों के कनेक्शन काटने के लिए शहर से लेकर गांव तक टीमें तैनात की गई हैं। माह के पहले सप्ताह में विभाग दो करोड़ 17 लाख रुपये वसूल पाया है। जिसमें से ग्रामीण संभाग ने 87 लाख रुपये की वसूली की है जबकि शेष राशि शहरी संभाग ने 450 उपभोक्ताओं के कनेक्शन काटने के साथ विभाग के खाते में जमा कराई है।

कलेक्टर का निर्देश भी नहीं आया काम, व्यवस्थित नहीं हुई जिला अस्पताल की वाहन पार्किंग
अभी तक हर माह होती थी समीक्षा
विभाग पिछले चार माह से बिजली बकायादारों के कनेक्शन काटने के साथ वसूली के काम में लगा है। जिसमें हर माह का लक्ष्य तय किया जाता था। एमडी ने बैठक लेने के बाद अब जिले के अधिकारियों से साप्ताहिक लक्ष्य तय कर वसूली करने व समीक्षा करने को कहा है।
इनका कहना है....
जिले में बिजली बिल के बकायादारों के कनेक्शन काटने की कार्रवाई के साथ ही राशि वसूलने अभियान चल रहा है। जिसमें अब मासिक लक्ष्य की जगह दोनों ही संभाग की टीमों को साप्ताहिक लक्ष्य दिया जा रहा है और उसकी हर सप्ताह समीक्षा की जाएगी।
एलपी खटीक, अधीक्षण अभियंता, मप्र पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी

mukesh tiwari
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned