दस करोड़ के चौड़ीकरण में संकरे मार्ग से निजात मिलने पर संशय!

चांडक चौक से जुहला बाइपास तक होना है कार्य, मुख्यमंत्री शहरी अधोसंरचना विकास योजना से मिली १० करोड़ की स्वीकृति, जारी होंगे टेंडर

By: mukesh tiwari

Published: 02 Apr 2018, 12:29 PM IST

कटनी. चांडक चौक से जुहला बाइपास तक के मार्ग के चौड़ीकरण के लिए मुख्यमंत्री शहरी अधोसंरचना विकास योजना से दस करोड़ की राशि स्वीकृत की गई है। स्वीकृति के बाद अब चांडक चौक से घंटाघर तक के संकरे मार्ग से निजात मिलने को लेकर संशय की स्थिति है। सड़क से सिर्फ उतने ही अतिक्रमण हटने हैं, जितने में लोगों का कब्जा है और उसके हिसाब से अधिक चौड़ाई मिलने की उम्मीद कम है। मार्ग की चौड़ाई पर्याप्त न मिलने से डिवाइडर नहीं बन पाएंगे और उससे लगने वाले जाम से भी निजात मिलना संभव नहीं हो पाएगा। मार्ग में सड़क, डिवाइडर, नाली निर्माण की कुल लागत १२ करोड़ ३७ लाख रुपये होगी, जिसमें से दस करोड़ के अलावा शेष राशि नगर निगम लगाएगा। १२ नवंबर को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कटनी आए थे और उस दौरान मार्ग निर्माण की मांग उनके सामने रखी गई थी। जिसमें उन्होंने स्वीकृति का आश्वासन दिया था।
तीन हिस्सों में होगा निर्माण
चांडक चौक से जुहला बाइपास तक ३४२ अतिक्रमण चिन्हित किए गए हैं। जिनको सबसे पहले हटाने का कार्य किया जाएगा। नगर निगम द्वारा चिन्हित स्थलों के कब्जाधारियों को नोटिस देकर खुद से हटाने आग्रह किया जाएगा और उसके बाद तोडऩे की कार्रवाई की जाएगी। चांडक चौक से घंटाघर, घंटाघर से गर्ग चौराहा और ओवर ब्रिज से जुहला बाइपास तक तीन पार्ट में सड़क का निर्माण होगा। जिसमें सिर्फ अतिक्रमण ही हटाए जाएंगे और किसी भी प्रकार से भूमि का अधिग्रहण नहीं होगा।
उपलब्धता के अनुसार होगी चौड़ाई
चांडक चौक से घंटाघर के बीच का मार्ग सबसे संकरा है। यहां पर अतिक्रमण हटाने के बाद उपलब्ध भूमि के आधार पर चौड़ाई रखी जाएगी। उपयंत्री सुधीर सिंह ने बताया कि मार्ग में उपलब्धता के आधार पर चौड़ाई होगी। दोनों ओर नालों का निर्माण होगा और उसमें दुबे कॉलोनी व निमिया मोहल्ला में पानी भरने की समस्या भी हल होगी।
इनका कहना है...
मुख्यमंत्री अधोसंरचना योजना से दस करोड़ की स्वीकृत मार्ग निर्माण को मिली है। जिसके टेंडर जारी करने और अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की जाएगी। मार्ग निर्माण को लेकर मुख्यमंत्री के सामने मांग रखी थी और मंत्री व क्षेत्रीय विधायक ने भी डिमांड रखी थी। स्वीकृति के साथ ही जल्द काम प्रारंभ कराया जाएगा। सड़क का चौड़ीकरण अतिक्रमण हटाने के बाद उपलब्ध स्थान के आधार पर होगा।
शशांक श्रीवास्तव, महापौर

mukesh tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned