इंकम टैक्स छापे के नाम पर मचा बवाल, जानकारी लेने पहुंचे असली अधिकारी

असली अधिकारियों ने कहा हमने नहीं मारा, शहर में झंडा बाजार स्थित मोबाइल दुकान पर मंगलवार को छापा का मामला.

By: raghavendra chaturvedi

Published: 10 Sep 2020, 11:48 PM IST

कटनी. शहर में झंडा बाजार स्थित एक दुकान में इंकम टैक्स विभाग के कटनी के अधिकारी जांच के लिए पहुंचे। दुकानदार से जानकारी ली। इसके साथ ही इस मामले में जबलपुर इंकम टैक्स विभाग के इनवेस्टिगेशन विंग के अधिकारियों ने भी जानकारी ली। दरअसल कटनी के झंडा बाजार स्थित टुक-टुक मल्टी रिचार्ज में मंगलवार को इंकम टैक्स विभाग द्वारा छापा मारे जाने की सूचना विभाग के अधिकारियों को बुधवार को मिली।

इस जानकारी के बाद विभाग में हड़कंप मच गया। इंकम टैक्स विभाग के अधिकारियों ने कहा कि उनके द्वारा कटनी के किसी भी दुकान में छापामार कार्रवाई नहीं की गई, तो क्या नकली इंकम टैक्स ऑफीसर बनकर कोई दुकान पहुंच गया। बुधवार को दुकान पहुंचे इंकम टैक्स के अधिकारियों ने बताया कि दुकान संचालक जानकारी ली गई है। लेटरहेड में एक पत्र लिखवाकर इंकम टैक्स के इनवेस्टिगेशन विंग जबलपुर को भेजा गया है।

इंकम टैक्स विभाग के अधिकारियों ने बताया कि छापे की खबर के बाद बड़ा सवाल यही उठा कि क्या नकली अधिकारी भी छापामार कार्रवाई के लिए सक्रिय हैं। बुधवार को इसी सिलसिले में जानकारी जुटाई गई। दुकानदार ने बताया कि उनके यहां इंकम टैक्स ने छापा नहीं मारा है। स्टेट जीएसटी के अधिकारी कुछ जानकारी लेने जरुर आए थे।

इंकम टैक्स इनवेस्टिगेशन विंग जबलपुर के अस्टिेंट कमिश्नर आशीष डहरिया ने बताया कि कटनी के दुकान में इंकम टैक्स द्वारा छापा मारे जाने की सूचना बुधवार को मिली। इसके बाद हमने जानकारी जुटाई, क्योंकि इंकम टैक्स के इनवेस्टिगेशन विंग ने कटनी में कहीं भी छापे की कार्रवाई नहीं की थी। बुधवार को कटनी के अधिकारी दुकान पहुंचे और जानकारी ली। दुकानदार ने भी स्वीकार किया कि मंगलवार को इंकम टैक्स विभाग ने छापा नहीं मारा है।

raghavendra chaturvedi Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned