कड़ी मशक्कत के बाद हैंडपंप से निकलता है एक डिब्बा पानी, ग्रामीण परेशान

मूलभूत सुविधाओं के लिए मोहताज रहवासी, जिम्मेदार अधिकारी नहीं दे रहे ध्यान

By: balmeek pandey

Published: 10 Jan 2021, 09:29 AM IST

कटनी/सिहुडी बसेड़ी. गांवों में मूलभूत सुविधाओं के विस्तार, सशक्तिकरण आदि को लेकर कई योजनाएं चल रही हैं। कागजों में जमकर वाहवाही भी लूटी जा रही है, लेकिन जिले के कई गांव ऐसे हैं जहां के रहवासी सुविधाओं के लिए मोहताज हैं और समस्याओं से जद्दोजहद कर रहे हैं। बहोरीबंद तहसील के ग्राम पंचायत पटोरी के ग्रामीण इन दिनों पीने के पानी को लेकर खासे परेशान हैं। ग्रामीणों का कहना है कि पीनके लिए नहीं मिल पा रहा है। सबसे ज्यादा दिक्कत गांव के निवासियों को हो रही है, जिनके नलों में दिनभर बाल्टी भर पानी भी नहीं आ रहा। गांव के लोगों को पानी ने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ती है, जिससे कि गांव के लोग परेशान है। अशोक पटेल, सत्यपाल, अमित पटेल, बैजनाथ, कमलेश, तुलसी राम, मलखान सिंह, डालचंद ने बताया कि घंटों नल चलते हैं। गांव के कुुछ भाग में लोग एक बाल्टी पानी के लिए तरस रहे हैं। ग्रामीणों ने बताया नल ऑपरेटर द्वारा मनमानी भी जा रही है, जिसके चलते नल सप्लाई व्यवस्था पूरी तरह से चौपट हो गई है।

ग्राम-पटोरी
ग्राम-पंचायत-पटोरी
आबादी-2000
तहसील-बहोरीबंद
जिला-कटनी

पंचायत नहीं दे रही ध्यान
ग्रामीणों ने बताया कि गांव के लोगों को पानी नहीं मिल पा रहा, जिससे गांव के लोग पानी के लिए परेशान हो रहे हैं। पंचायत सचिव को कई बार समस्या से अवगत कराया गया, लेकिन पंचायत भी ध्यान नहीं दे रही। गांव के लोगों ने सरपंच बाल किशन से नलजल सप्लाई चालू कराने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि 15 हैंडपंप है जिसमें की दो हैंडपंप ही चालू हैं। वहीं जो सरकारी कूप है वह भी ठप पड़े हैं। ग्रामीणों ने जल्द से जल्द हैंडपंप सुधरवाए जाने की मांग और बोरिंग कराए जाने कहा है।

नहीं मिली सहायता राशि
ग्राम पंचायत पटोरी के रवि कुमार, बद्री प्रसाद, रश्मि बाई, विमलाबाई, कमलेश ने बताया कि सब के खाते में सामान्य निधि प्रधानमंत्री योजना का 2000 खाते में आ गया है, लेकिन हम लोगों का आज तक राशि नहीं आई। पटवारी ने ऑनलाइन भी किया, लेकिन आज तक एक भी किश्त लोगों के खाते में नहीं आई। ग्रामीणों ने कलेक्टर से मांग की है कि जल्द से जल्द इस योजना का हम लोगों को भी लाभ दिलाया जाए।

balmeek pandey Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned