VIDEO: सम्मान निधि की आठ किश्त देकर वापस मांगी राशि, किसान का स्वाभिमान देखिए पैसे लौटाने गिरवी रखे जेवर

पीएम किसान सम्मान निधि वापस जमा करने के लिए दिए गए नोटिस में कहा पैसे नहीं चुकाए पैसे तो जमीन हो जाएगी बंधक.

- किसान गीताबाई ने कहा हम तो यही कह रहे हैं कि पैसे मांगने नहीं गए थे, अब दे दिए हैं तो वसूली न करें, सरकार आगे से पैसा भले न दें.

- कटनी जिले में यह पहला मामला नहीं है, किसान सम्मान निधि की राशि वापस जमा करने के लिए तीन हजार किसानों को नोटिस जारी हुआ है.

By: raghavendra chaturvedi

Published: 06 Oct 2021, 11:22 PM IST

Katni, Katni, Madhya Pradesh, India

राघवेंद्र चतुर्वेदी @ कटनी. बहोरीबंद विकासखंड मुख्यालय से दो किलोमीटर दूर सिमरापटी गांव की किसान गीताबाई यह सोचकर परेशान हैं कि सरकार ने 16 हजार रुपए जमा करने का जो नोटिस जारी किया है उसे चुकाने के लिए रुपए का इंतजाम कैसे हो। दरअसल बहोरीबंद तहसीलदार की ओर से 20 सितंबर को जारी नोटिस में कहा गया है कि गीता बाई को अप्रात्रता के बाद भी पीएम किसान सम्मान निधि की 8 किश्तें जारी हो गई है। इसलिए 27 सितंबर तक राशि वापस जमा करा दी जाए। ऐसा नहीं होने पर जमीन बंधक दर्ज कर दी जाएगी।

पत्नी के नाम से जारी नोटिस के बाद किसान सुरेंद्र चक्रवर्ती की रातों की नींद गायब हो गई है। किसान पति-पत्नि बताते हैं कि एक तो कोरोना संक्रमण से दो साल से परिवार चलाना मुश्किल हो गया है। बच्चों की पढ़ाई शिशुमंदिर से बंद करवा कर सरकारी में नाम लिखवाना पड़ा। अब टीसी मांगने पर स्कूल वाले पैसे मांग रहे हैं। घर में मुर्गी और खेती किसानी कर किसी तरह बच्चों का पेट भर पा रहे हैं तो सरकार ने पैसे जमा करने का नोटिस दे दिया। इस बीच पैसे का कहीं से इंतजाम नहीं हुआ तो मंगलवार को जेवर गिरवी रखकर 12 हजार रुपए उधार लिए। चार हजार रुपए खाते में थी अब 16 हजार रुपए का कर्ज चुकाएंगे।

गीताबाई ने पत्रिका को बताया कि पति-पत्नि के नाम आधा-आधा एकड़ जमीन है। किसान सम्मान निधि मांगने नहीं गए थे। सरकार ने पति-पत्नी दोनों के नाम जमीन खाता होने के कारण स्वयं ही राशि दे दी। अब पैसे दे दिए हैं और सरकार को लग रहा है कि गलत हुआ है तो आगे से नहीं दें, लेकिन जो राशि दे दिए हैं उसकी वसूली तो न करें।
पीएम किसान सम्मान निधि में अपात्र किसानों को जारी वसूली नोटिसों की संख्या एक या दो नहीं बल्कि तीन हजार से अधिक है। इन किसानों को नोटिस जारी कर जल्द से जल्द राशि जमा करने कहा गया है। नोटिस के बाद 3 सौ से ज्यादा किसानों ने राशि जमा भी करवा दी है।

इस पूरे मामले को लेकर कलेक्टर प्रियंक मिश्रा बताते हैं कि पीएम किसान सम्मान निधि में अपात्र किसानों से राशि वसूली की सूची भोपाल से आई है। यह सूची बहुत पहले आई थी। निर्देश के परिपालन में संबंधितों को कार्रवाई के लिए कहा गया है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned