scriptsevere water problem in katni city | वार्डों की गली-गली घूमे कलेक्टर तो सामने दिखी पेयजल की भीषण समस्या, वीडियो में देखें भयावह स्थिति | Patrika News

वार्डों की गली-गली घूमे कलेक्टर तो सामने दिखी पेयजल की भीषण समस्या, वीडियो में देखें भयावह स्थिति

कहीं पर खराब मिला हैंडपंप तो कहीं पर नलकूप
लोगों ने हाथ जोड़कर कहा साहब जीवन बचाने पीने के का पानी तो दिलाओ, कहा बोरिंग नहीं करा सकते तो हैंडपंप ही सुधरवा दें
नगर निगम के अफसरों को कलेक्टर ने टेंकर सप्लाई बढ़ाने सहित स्थाई समाधान के दिए सख्त निर्देश

कटनी

Published: April 27, 2022 09:53:47 pm

कटनी. 'आग लगने पर कुआं खोदनाÓ यह मुहावरा आपने खूब सुना होगा, लेकिन यह इन दिनों चरितार्थ हो रहा है शहर सहित पूरे जिले में। पानी के लिए त्राहिमाम की स्थिति निर्मित हो गई। पहले अफसर हवा में दावा-वादा करते रहे जब स्थिति भयावह हुई तो कलेक्टर गांवों घूम रहे हैं और शहर में पानी की समस्या की नब्ज टटोल रहे हैं। स्थिति शहर में बेकाबू जैसी हो गई है। इन सबके पीछे नगर निगम द्वारा समय रहते इंतजाम न करना व प्रशासन अफसरों द्वारा ठीक से समीक्षा न करना है।
सोमवार सुबह कलेक्टर प्रियंक मिश्रा ने मैदान पर उतर कर हकीकत देखी तो भयावह स्थिति सामने आई। कलेक्टर सीधे विवेकानंद वार्ड लखेरा पहुंचे वार्ड की गली-गली घूमे तो देखा कि किस तरह से पानी की भीषण समस्या है। कहीं पर सप्लाई नहीं चालू हो रही थी तो कहीं पर कई दिनों से पानी नहीं आ रहा है। लोगों ने बताया कि रात दो बजे से बोरिंग में नंबर लगा कर खड़े हैं, लेकिन सुबह 9 तक बोरिंग चालू नहीं की गई। 24 घंटे से इंतजार कर रहे थे, लेकिन टैंकर नहीं पहुंचा। लोग पानी पीने के लिए ब्रश करने के लिए निस्तार के लिए पानी के इंतजार में खड़े थे। कलेक्टर पहुंचे तो गंभीर समस्या बताई। जमकर आक्रोश निकाला। कलेक्टर भी भीषण समस्या को देखकर के हतप्रभ रह गए। उन्होंने नगर निगम के इंजीनियरों को जमकर लताड़ा, फटकार लगाई और कहा कि तत्काल स्थाई समाधान करें। टेंकरों के माध्यम से लोगों को पानी पहुंचाया जाए और पेयजल समस्या के स्थाई समाधान के लिए भी पहल करें।

वार्डों की गली-गली घूमे कलेक्टर तो सामने दिखी पेयजल की भीषण समस्या, वीडियो में देखें भयावह स्थिति
वार्डों की गली-गली घूमे कलेक्टर तो सामने दिखी पेयजल की भीषण समस्या, वीडियो में देखें भयावह स्थिति
वार्डों की गली-गली घूमे कलेक्टर तो सामने दिखी पेयजल की भीषण समस्या, वीडियो में देखें भयावह स्थिति

कलेक्टर के जोड़े हाथ, कहा पानी तो दिला दो साहब
पानी की समस्या को लेकर लोग इतना परेशान है कि जैसे ही उन्हें पता चला कलेक्टर पहुंचे हैं तो महिला व पुरुष बड़ी संख्या में एकत्रित हो गए। कलेक्टर से बार बार हाथ जोड़ करके कहा साहब पीने के लिए तो पानी का इंतजाम करा दीजिए, वे लोग नगर निगम के अधिकारी कर्मचारियों की जमकर शिकायत भी की, कहा कि टैंकर के लिए गिड़गिड़ाते हैं, लेकिन कोई सुनने वाला नहीं है। हैंडपंप में पाइप लाइन विस्तार की मांग कर रहे हैं। क्षेत्र के कुओं में पानी है उनकी सफाई कर मशीन डालकर के स्पॉट सप्लाई करने की मांग कर रहे हैं, लेकिन कोई सुनने को तैयार नहीं है। इस दौरान पूर्व पार्षद ऊषा पटेरिया ने भी क्षेत्र में बोरिंग कराने व छोटा टेंकर की व्यवस्था करने कहा। एक वृद्धा ने भी हाथ जोड़कर कहा कि साहब पीने के लिए पानी तो दिला दो तो कलेक्टर ने कहा, हाथ न जोड़ें, आपकी समस्या सुनने ही आया हूं।

वार्डों की गली-गली घूमे कलेक्टर तो सामने दिखी पेयजल की भीषण समस्या, वीडियो में देखें भयावह स्थिति

हैंडपंप में पर्याप्त पानी, फिर भी नहीं सुधार
इस दौरान कलेक्टर विवेकानंद वार्ड की गलियों का पैदल भ्रमण किया। उन्होंने दुकानदारों से पेयजल उपलब्धता, पानी आने का समय और शुद्ध पानी के संबंध में जानकारी ली। स्थानीय जनों ने 30 मिनट पानी आने और टिकरिया स्कूल लाइन में पेयजल के संकट के संबंध में बताया। टिकरिया स्कूल स्थित हैंडपंप में धूप में महिलाओं को पानी भरते देखकर स्थल पर टीन शेड लगाने कहा। हैंडपंप के पानी का प्रेशर बढ़ाने के लिए बोरिंग को प्रेशर मशीन से साफ कराने के निर्देश दिए। मुख्य मार्ग के हैंडपंप को भी सुधारने कहा।

वार्डों की गली-गली घूमे कलेक्टर तो सामने दिखी पेयजल की भीषण समस्या, वीडियो में देखें भयावह स्थिति

कुएं की सफाई कराने दिए निर्देश
विवेकानंद वार्ड के पुराने कुएं का भी निरीक्षण किया। स्थानीय लोगों ने बताया कि कुआं में पर्याप्त पानी है इसका घरेलू उपयोग हो सकता है। इस पर कलेक्टर ने पानी की टेस्टिंग व सफाई कराते हुए पंप लगाकर स्पॉट सप्लाई चालू कराने कहा। टिकरिया स्कूल के पास पुराने हैंडपंप का स्थल कलेक्टर को दिखाया, जिसपर उन्होंने अधिकारियों से स्थल में पानी की उपलब्धता की जांच कराते हुए हैंडपंप लगाने के निर्देश दिए। पेयजल सप्लाई के लिए टेंकरों की संख्या व पाइप लाइन की लंबाई बढ़ाने के निर्देश दिए। इसके अलावा संकरी गलियों में छोटे टेंकरों के जरिए पेयजल उपलब्ध कराने के साथ ही एसीसी व आर्डिनेंस की बोरिंग से जलापूर्ति की व्यवस्था करने के निर्देश दिए।

वार्डों की गली-गली घूमे कलेक्टर तो सामने दिखी पेयजल की भीषण समस्या, वीडियो में देखें भयावह स्थिति

नाली पर पाइप, लगाई जमकर फटकार
लखेरा बस्ती में नाली के अंदर से पानी सप्लाई के पाइप मिलने पर कलेक्टर जमकर नाराजगी जाहिर की और संजय मिश्रा को फटकार लगाते हुए कनेक्शन नालियों से बाहर करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा कि जब खड़े होने की तमीज नहीं है तो काम क्या करोगे।

वार्डों की गली-गली घूमे कलेक्टर तो सामने दिखी पेयजल की भीषण समस्या, वीडियो में देखें भयावह स्थिति

पानी भरने के आगे कलेक्टर से बात करने राजी नहीं हुए लोग
बस्ती में लोग पानी को लेकर इतना परेशान हैं कि जब कलेक्टर लोगों से बात करनी चाही तो वे बात करने तैयार नहीं थे। डिब्बों की लाइन लगाकर टेंकर से पानी भरने की जुगत में भिड़े रहे। एक वृद्धा ने कहा कि कुछ होने जाने वाला नहीं हैं। गरीबों की कोई नहीं सुन रहा। इस मौके पर निवर्तमान पार्षद राजेश जाटव ने भी समस्या से अवगत कराया।

निरीक्षण को लेकर खास-खास:
- खाली पड़े प्लाटों में जमा कचरे की सफाई कराने और हैंडपंप के आसपास गंदगी मिलने पर संबंधितों को नोटिस जारी करने के निर्देश दिए।
- निरीक्षण के दौरान नगर निगम के अधिकारी आसानी से होने वाले कामों को कलेक्टर के सामने बताई गंभीर कठिनाइयां।
- सीवर लाइन बिछाने के दौरान क्षतिग्रस्त हुई सड़कों के मरम्मत का कार्य नहीं करने पर संबंधित ठेकेदार को भी नोटिस जारी करने दिए निर्देश।
- मुख्य मार्ग सुलभ शौचालय के निरीक्षण के दौरान स्टार्टर बंद होने की समस्या का तत्काल निराकरण करने के निर्देश भी सहायक यंत्री को दिए।
- इमलिया स्थित खदान का भी निरीक्षण किया और खदान को रिचार्ज करने के लिए आसपास के सोर्स को चिन्हित करने कहा।
- उन्होंने वार्ड की पानी की टंकी व जल स्त्रोतों के संबंध में जानकारी लेते हुए संकटग्रस्त स्थलों में प्राथमिकता के साथ पेयजल सप्लाई करने के निर्देश दिए।
- इस दौरान निगमायुक्त सत्येंद्र सिंह धाकरे, कार्यपालन यंत्री शैलेष जायसवाल, प्रभारी कार्यपालन यंत्री राकेश शर्मा सहित नगर निगम के अन्य अधिकारी रहे उपस्थित।
- लखेरा में एक युवक ने कहा कि वार्ड में है गंभीर समस्या, शीघ्र नहीं हुआ समाधान तो वह कर लेगा आत्महत्या।

इस तरह लोगों ने बयां की पीड़ा
रात 2 बजे से नंबर लगाकर बैठे रहे। सुबह 9 बजे तक पानी नहीं मिला। बूंद-बूंद पानह के लिए परेशान हैंं रात में कोई कुछ घटना कर दे तो कौन जिम्मेदार होगा।
राम बाई दाहिया, स्थानीय निवासी।

वार्ड में 3 तीन दिन से पेयजल नहीं आ रहा है। कलेक्टर को दिखाने के लिए दो टेंकर मंगा लिए थे। पेयजल को लेकर गंभीर समस्या है। कोई सुनवाई नहीं हो रही।
संजय दाहिया, लखेरा।

कई माह से हैंडपंप बिगड़ा हुआ है, सुधार नहीं हो रहा। पानी के लिए कई साल से परेशान हैं। अब तो स्थिति यह है कि पीने तक के लिए नसीब नहीं हो रही है।
बिन्नो दाहिया, स्थानीय निवासी।

ढाई बजे रात से पानी भरना पड़ रहा है। विवेकानंद वार्ड में पानी की समस्या 22 साल से है। सूखी टंकी का उद्घाटन कराया गया है, यहां पर कोई सुनवाई नहीं है।
लील यादव, स्थानीय निवासी।

पत्रिका बना आवाम की आवाज
पत्रिका द्वारा जिले में पानी की भीषण समस्या को कई दिनों से उठाया जा रहा है। बात दें कि पहले कलेक्टर नगर निगम के अधिकारियों से पूछ रहे थे कि वाकई में ऐसी समस्या है कि सिर्फ अखबार में छप रहा है। जब सोमवार को मैदान में उतरे तो हकीकत सामने आई। हैरानी की बात तो यह है कि कलेक्टर नगर निगम के प्रशासक हैं। गर्मी में हर साल गंभीर समस्या होती है, इस बार भीषण रूप ले रही है। अभी स्थाई समाधान नहीं हुआ, नर्मदा जल लाने में अभी दो से तीन साल का वक्त लग सकता है, इसके बाद भी कोई ठोस प्लानिंग और मॉनीटरिंग कलेक्टर ने नहीं की। जनता त्राहिमाम करने लगी तो अब अमला मैदान में उतर रहा है। शहर के 45 वार्डों में से लगभग 35 वार्डों में स्थिति विकराल हो गई है, इसके बाद भी कार्ययोजना समझ से परे है। पानी के अनाधिकृत उपयोग, मनामाने उपयोग पर कोई लगाम नहीं हैं। जिम्मेदार जनप्रतिनिधि सिर्फ योजना बनवाते हैं, लेकिन काम करा पाने में असफल हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Maharashtra Politics: फडणवीस को डिप्टी सीएम बनने वाला पहला CM कहने पर शरद पवार की पूर्व सांसद ने ली चुटकी, कहा- अजित पवार तो कभी...Udaipur Killing: आरोपियों के मोबाइल व सोशल मीडिया का डाटा एटीएस के लिए महत्वपूर्ण, कई संदिग्धों पर यूपी एटीएस का पहराJDU नेता उपेंद्र कुशवाहा ने क्यों कहा, 'बिहार में NDA इज नीतीश कुमार एंड नीतीश कुमार इज NDA'?कन्हैया की हत्या को माना षड्यंत्र, अब 120 बी भी लागूकानपुर में भी उदयपुर घटना जैसी धमकी, केंद्रीय मंत्री और साक्षी महाराज समेत इन साध्वी नेताओं पर निशानाAmravati Murder Case: उमेश कोल्हे की हत्या मामले पर नवनीत राणा ने गृह मंत्री अमित शाह को लिखी चिट्ठी, की ये बड़ी मांगmp nikay chunav 2022: दिग्विजय सिंह के गैरमौजूदगी की सियासी गलियारे में जबरदस्त चर्चाबहुचर्चित अवधेश राय हत्याकांड में बढ़ी माफिया मुख्तार की मुश्किलें, जाने क्या है वजह...
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.