इस शहर में बारिश बंद हुई तो सामने आया ये सच...

इस शहर में बारिश बंद हुई तो सामने आया ये सच...

Mukesh Tiwari | Publish: Sep, 11 2018 11:58:18 AM (IST) Katni, Madhya Pradesh, India

बारिश में धंस गए सीवर लाइन के चेंबर, नगर निगम क्षेत्र में कराए गए कार्य में गुणवत्ता का नहीं रखा गया ध्यान, सड़क का भी नहीं कराया सुधार, लोग परेशान

कटनी. करोड़ों रुपये की लागत से कराए जा रहे सीवर व पाइप लाइन विस्तार के कार्य में गुणवत्ता की कलई बारिश के साथ ही खुलनी शुरू हो गई है। सीवर लाइन के चेंबर कई स्थानों पर धंस गए हैं और उससे लोग दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं। शहर में सीवर लाइन का कार्य नगर निगम द्वारा निजी कंपनी के माध्यम से लगभग 200 करोड़ की लागत से कराया जा रहा है। कार्य के लिए शहर को तीन जोन में बांटा गया है और वर्ष 2017 के अंतिम माह में पहले जोन का काम प्रारंभ कराया गया था। जिसमें उपनगरीय क्षेत्र माधवनगर, लखेरा, फारेस्टर वार्ड सहित उससे लगे क्षेत्र शामिल हैं। सड़कों को खोदने के बाद उसमें लाइन डाली गई है और उसके बाद नियमानुसार सड़क को यथावत करना था लेकिन ठेकेदार ने सिर्फ मिट्टी डालकर काम पूरा कर दिया है। बारिश होते ही जिन स्थानों पर चेंबर बनाए गए थे, वहां वे धंसने लगे हैं और सड़कों में बीचों-बीच गड्ढे निकल आए हैं। जिससे लोग दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं।
दो भाग में बंट गई सड़क
शहर के फारेस्टर वार्ड की गलियों में बारिश होते ही जहां सड़क में चेंबर के बड़े-बड़े गड्ढे लोगों की परेशानी बन गए हैं तो खोदी गई सड़क का सुधार न होने से वह बीच से दो हिस्सों में बंट गई है। बीच में जिन स्थानों पर चेंबर बनाए गए हैं, वे अंदर धंस गए हैं और इसके चलते रोजाना लोग दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं। ऐसी ही स्थिति लखेरा की है, जहां पर एम्बुलेंस मार्ग पर बारिश में दो स्थानों पर चेंबर धंस गए थे और आनन-फानन में वहां पर ठेकेदार द्वारा मुरम गिट्टी डालकर उसे बंद कराया गया था। उपनगरीय क्षेत्र माधवनगर की शांतिनगर कॉलोनी और एमइएस कॉलोनी में भी ऐसी ही स्थिति है।
इनका कहना है...
सीवर लाइन का काम जिन स्थानों पर कराया गया है और परेशानी आ रही है, उसे ठेकेदार को दुरुस्त कराने के निर्देश दिए गए हैं। आगे का काम बंद कराते हुए पहले पूर्व में कराए काम को कम्पलीट कराने के निर्देश दिए गए हैं।
शशांक श्रीवास्तव, महापौर

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned