scriptsmall village youth hoisted indian flag above 16730 feet of himalaya | छोटे से गांव के युवा ने हिमालय की 17 हजार फीट ऊंचाई पर फहराया तिरंगा, बढ़ाया प्रदेश का मान | Patrika News

छोटे से गांव के युवा ने हिमालय की 17 हजार फीट ऊंचाई पर फहराया तिरंगा, बढ़ाया प्रदेश का मान

-छोटे से गांव के युवा ने हिमालय पर फहराया तिरंगा
-हिमाचल की 16, 730 फीट ऊंची पीक फतह की
-पर्वतारोहण संस्थान मनाली में एक माह की ट्रेनिंग
-अमित ने सफलता का श्रेय माता-पिता को दिया

कटनी

Updated: June 27, 2022 04:34:01 pm

कटनी। बरही के रहने वाले पर्वतारोही अमित विश्वकर्मा ने एक बार फिर हिमालय की ऊंंचाई को अपने हौसलों से नापा है। इस बार अमित ने अपनी पर्वतारोहण की यात्रा को जारी रखते हुए हिमाचल रेंज की 16 हजार 730 फीट ऊंची क्षेतिदार कैम्पिन पीक को फतह किया है। पर्वतारोहण संस्थान, मनाली में एक माह की ट्रेनिंग का आयोजन किया गया था। इस ट्रेनिंग में देश भर के 96 प्रतिभागियों ने भाग लिया। जिसमें से 54 ने ही सफलता हासिल की। अमित विश्वकर्मा ने प्रदेश का प्रतिनिधित्व करते हुए सफलता हासिल की और प्रदेश का गौरव बढ़ाया। अमित विश्वकर्मा ने अपनी इस सफलता का श्रेय अपने पिता मन्नू लाल विश्वकर्मा और मां रश्मि विश्वकर्मा को दिया है।

News
छोटे से गांव के युवा ने हिमालय की 17 हजार फीट ऊंचाई पर फहराया तिरंगा, बढ़ाया प्रदेश का मान


क्षेतिदार कैम्पिन पीक फतह के सफर की शुरुआत हिमालयन पर्वतारोहण संस्थान में रॉक क्लाइंबिंग, रैपलिंग, आइस एक्स-क्लाइंबिंग, रेस्क्यू तकनीक, सेल्फ अरेस्ट, ग्रुप अरेस्ट आदि का प्रशिक्षण लेते हुए की। प्रारंभ में सोलांग हिल की 21 किमी की चढ़ाई की। सोलंग हिल की चढ़ाई के बाद बकर्ताच बेस कैंप के प्रवेश स्थल से बखीम ट्रेक के दौरान 30 किलो के वजन के साथ 7 घण्टे का लगातार सफर तय करने के बाद 12000 फीट की ऊंचाई पर पहुंचे। बकरताच कैंपिन बेस कैंप से रोजाना आइस क्राफ्ट ,स्नो क्राफ्ट और और रेस्क्यू क्रिवेस जैसी ट्रेनिंग के लिए 10000 फीट की ऊंचाई तय कर ट्रेनिंग में मनाली 26 दिन का कैंप किया और क्षेतीदार कैंपिन 16730 फ़ीट ऊंची चोटी पर तिरंगा फहराया ।

यह भी पढ़ें- जब लखनलाल ने रोका शिवराज का काफिला, बीच सड़क पर भेंट किये जूते, सीएम बोले- 'आभार', जानिए मामला


कई चुनौतियां आईं पर ट्रेनिंग नहीं रुकी- अमित

बेसिक माउंटेनियरिंग इंस्टिट्यूट मनाली में ट्रेनिंग कर 26 दिन के बाद उन्होंने बताया कि पानी, स्नोफॉल और कोहरे छा जाने के बाद भी ट्रेनिंग नहीं रुकी। अमित विश्वकर्मा ने पहले भी पतालसू पीक सबमिट की थी। इस बार क्षेतीदार कैंपिन पीक फतेह कर कटनी का गौरव बढ़ाया और देश का झंडा सबसे ऊंची चोटी पर फहराया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

शेयर मार्केट के दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला का निधन, 62 साल की उम्र में ली अंतिम सांसRajasthan: तीसरी कक्षा के दलित छात्र को निजी स्कूल के शिक्षक ने पानी का कंटेनर छूने को लेकर पीटा, मौत के बाद तनाव, इंटरनेट सेवा बंदMaharashtra: रायगढ़ के पूर्व विधायक विनायक मेटे की सड़क दुर्घटना में मौत, मुंबई-पुणे एक्सप्रेसवे पर हुआ भीषण हादसाJ-K: स्वतंत्रता दिवस से पहले आतंकियों का ग्रेनेड से हमला, कुलगाम में पुलिसकर्मी शहीदकैबिनेट विस्तार से पहले आज नीतीश कुमार, तेजस्वी यादव से मुलाकात करेगी कांग्रेस!राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू आज 76वें स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्र को करेंगी संबोधितNashik News: कंबल में लेटाकर प्रेग्‍नेंट महिला को पहुंचाया गया हॉस्पिटल, दिल दहला देने वाला वीडियो हुआ वायरल14 अगस्त स्मृति दिवस: वो तारीख जब छलनी हुआ भारत मां का सीना, देश के हुए थे दो टुकड़े
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.