एजेंसी से खरीदी गैस, मोबाइल कंपनी से लेनी पड़ रही सब्सिडी

mukesh tiwari

Publish: Dec, 07 2017 10:23:44 (IST)

Katni, Madhya Pradesh, India
एजेंसी से खरीदी गैस, मोबाइल कंपनी से लेनी पड़ रही सब्सिडी

सब्सिडी राशि लेने गैस एजेंसियों के चक्कर काट रहे उपभोक्ता, पैसा वापस पाने परेशान

कटनी. यदि आप अपनी मोबाइल नंबर को आधार से लिंक करा रहे हैं तो आपकी रसोई गैस की सब्सिडी राशि बैंक खाते में जाने के बजाए मोबाइल नेटवर्किंग कंपनी में जा सकती है। यहां यह राशि आपके मोबाइल नंबर से कंपनी द्वारा खोले गए खाते में ट्रांसफर हो जाएगी। यह कोई जादू नहीं है बल्कि ऐसा आधार लिंक कराने की प्रक्रिया के कारण हो रहा है। बैंक में सब्सिडी की राशि न आने पर उपभोक्ता गैस एजेंसियों के चक्कर लगा रहे हैं, बाद में उन्हें मोबाइल कंपनी के ऑफिस से राशि लेने की सलाह दी जा रही है। शहर में ऐसे सैकड़ों उपभोक्ता रोजाना परेशान हो रहे हैं। गैस कंपनियों द्वारा उपभोक्ताओं को दी जाने वाली सब्सिडी की राशि बैंक में दिए जाने का प्रावधान है। दूसरी ओर मोबाइल कंपनियां अब मोबाइल नंबर में ही बैंक जैसी सुविधा उपभोक्ता को दे रहे हैं। इसमें पैसे ट्रांसफर से लेकर मोबाइल रिचार्ज, ट्रेन टिकट बुकिंग सहित अन्य सुविधाएं शामिल हैं। खासबात यह है कि मोबाइल नंबर आधार से व्हेरीफाइड होता है और इसी के आधार पर रसोई गैस सब्सिडी की राशि बैंक खाते के बजाए मोबाइल नंबर के आधार पर निजी मोबाइल कंपनी में जा रही है। इसमें बकायदा उपभोक्ता के मोबाइल नंबर पर पैसे आने का मैसेज भी आता है।
एक लाख 35 हजार से अधिक उपभोक्ता
जिले में 19 गैस एजेंसी संचालित हैं। जिसमें उज्जवला योजना के 62 हजार 791 और सामान्य उपभोक्ता 72 हजार के लगभग उपभोक्ता दर्ज हैं। शहर के बीचों-बीच संचालित एक एजेंसी में ही इस समस्या से एक सैकड़ा के लगभग उपभोक्ता परेशान हैं। सावरकर वार्ड निवासी उपभोक्ता अनंत गुप्ता ने बताया कि उनकी सब्सिडी पहले कियोस्क में खुले खाते में आती थी। अचानक दो माह से राशि आना बंद हो गई। जब उन्होंने एजेंसी से संपर्क किया तो पता लगा कि उनका पैसा मोबाइल के खाते में चला गया है। जिसके बाद मोबाइल कंपनी के आफिस पहुंचने पर उन्हें राशि वापस मिली। कॉलोनी के ही आधा दर्जन उपभोक्ता इस समस्या से परेशान हैं। इसी तरह शहर में सैकड़ों उपभोक्ता रसोई गैस सब्सिडी के लिए एजेंसी और बैंक के चक्कर लगा रहे हैं। बाद में उन्हे मोबाइल कंपनी के दफ्तर से राशि मिलती है।

इनका कहना है...
आधार कार्ड के लिंक कराने में उपभोक्ता के मोबाइल नंबर खाते में राशि जाने की शिकायतें आ रही हैं। उपभोक्ताओं को मोबाइल कंपनी से सब्सिडी की राशि मिल जाती है लेकिन परेशान होना पड़ रहा है। इसके लिए उन्हें फिर से अपने बैंक खाते को अपडेट कराने की सलाह दी जा रही है।
अभय बगडिय़ा, गैस एजेंसी संचालक

उपभोक्ताओं की ऐसी शिकायतें मिली हैं। कंपनी के नियमानुसार अंतिम बार जहां आधार कार्ड को लिंक कराया है राशि उसी खाते में जाती है। इसके लिए उपभोक्ताओं को सलाह है कि ऐसा होने पर अपने जिस बैंक खाते में सब्सिडी चाहते हैं, वहां जाकर फिर से आधार कार्ड को अपडेट करा लेें।
केएल भदौरिया, प्रभारी जिला आपूर्ति अधिकारी

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned