महापौर ने कहा शहर के विकास में नहीं छोड़ी कसर, विपक्ष बोल- जीरो विकास भ्रष्टाचार में टॉप

31 दिसंबर को पूरा होगा नगर सरकार का कार्यकाल, पूरे पांच साल काम करने वाले दूसरे महापौर शशांक श्रीवास्तव

 

By: dharmendra pandey

Published: 07 Jan 2020, 12:18 PM IST

कटनी. नगर सरकार का पांच साल का कार्यकाल चार दिन बाद यानि 31 दिसंबर को पूरा हो जाएगा। फिर चुनाव होने तक सत्ता की चाबी प्रशासन के हाथों में चली जाएगी। कार्यकाल पूर्ण की ओर बढ़ रहे महापौर शशांक श्रीवास्तव ने पांच साल में शहर को विकास की पटरी पर लाने की बात दोहराई और बताया कि शहरवासियों के लिए पार्क, ऑडिटोरियम हाल, सड़क, पानी, बिजली, सुविधाघर और मकान सहित हर सुविधा दिलाने का काम किया। हर एक काम की सूची हमारे पास है, तो विपक्ष ने कहा कि उनका कार्यकाल विकास के मामले में जीरो रहा। पार्षद व शहर कांग्रेस जिलाध्यक्ष मिथलेश जैन ने बताया कि पांच साल के दौरान शहर विकास में पिछड़ गया। इस कार्यकाल को भ्रष्टाचार में जरूर सौ में सौ अंक दिया जा सकता है। पांच साल के कार्यकाल में शहर के पांच प्रमुख मुद्दे सड़क, पानी, ट्रांसपोर्ट नगर, सिटी बस और यातायात के क्षेत्र में किए गए काम को लेकर पत्रिका ने किया स्कैन।

विपक्ष-वरिष्ठ पार्षद व शहर कांग्रेस अध्यक्ष मिथलेश जैन-
-यातायात
यातायात पहले से अधिक बिगड़ गई है। वाहनों को छोड़ दिया जाए तो पैदल चलने तक की जगह नहीं है। ट्रैफिक सुधार को लेकर शहर में कोई कार्य हुआ है।

पेयजल-
24 घंटे पानी देने का वादा किया था, लेकिन एक ही समय पानी मिल रहा है। 90 रुपये से बढ़ाकर 150 रुपये कर दिया है। हर साल 5 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी कर दी गई। इससे शहरवासियों को 170 रुपये में पानी मिल रहा है। 23 वार्ड ऐसे हैं जिसमें अब तक पाइन लाइन ही नहीं बिछी है। अमृत योजना का आधा काम भी नहीं हुआ है।

सड़कें
-पांच साल के कार्यकाल के दौरान कोई भी नया मुख्यमार्ग नहीं बना है। मॉडल रोड, पीरबाबा, चाका पुराने कार्यकाल की देन है। कोई भी नया कार्य नहीं हुआ है।

-सिटी बस-
शहर में सिटी बस भी नहीं चल पाई। पांच साल का समय था और मौका भी था। चाहते तो हवाई पट्टी बनवा देते, लेकिन नहीं करवा पाए।

ट्रांसपोर्ट नगर-
ट्रांसपोर्ट नगर भी नहीं बसा पाए। ब्लॉक आवंटन की प्रक्रिया पुराने कार्यकाल में हो चुकी थी। ट्रांसपोटर बाहर नहीं जा पाए। जिसके चलते बड़े वाहन शहर के भीतर प्रवेश करते हैं। आवागमन बाधित होता है।


पक्ष-महापौर-शशांक श्रीवास्तव-
-यातायात-
यातायात के क्षेत्र में कार्य किए गए है। बरही रोड का चौड़ीकरण कराया। सड़क चौड़ी नहीं होने से लोग जाम में फंसकर परेशान होते थे। यातायात व्यवस्था में सुधार लाने के लिए ट्रांसपोर्ट नगर बसाने में गति दी गई।

पेयजल-
शहरवासियों को सात दिन 24 घंटे पानी देना है। यह तब संभव है जब हर घर मीटर लग जाए। अभी कई घरों में पानी का मीटर नहीं लगा है। पानी दोनों समय पर आता है। अपने स्तर पर प्रयास कर तीन खदानों को जोड़ा। जिसमें पानी ले सकते है छोड़ सकते है। आज तक ये सिस्टम किसी भी महापौर ने नहीं किया है। पाइप लाइन बिछाने का काम लगातार चलेगा।

-ट्रांसपोर्ट नगर-
ट्रांसपोर्ट नगर का काम पूरा हो चुका है। 102 ट्रांसपोटरों के पूरे पैसे जमा हो गए है। 30 का नक्शा पास होना बाकी है। 115 ट्रांसपोर्टर की सूची कलेक्टर के माध्यम से मुख्यमंत्री कमलनाथ के पास भिजवाया गया है। कांग्रेसी उसको पास करवा दे तो सारे ट्रांसपोर्टर, ट्रांसपोर्ट नगर में चले जाएंगे।

सड़क-
जब मैं महापौर बना तब चाका से पीरबाबा अतिक्रमण मुक्त मार्ग बना। इसमें 68 करोड़ रुपये खर्च किए है। चांडक चौक से जुहला मार्ग का काम कराया जा रहा है। 20 फीसदी काम पूरा हो गया है। तीसरा रोड कटनी-मुडवारा स्टेशन से लेकर रंगनाथ मंदिर तक बनाया है। लोगों ने खुद अतिक्रमण हटवाया है।

सिटी बस-
शहर में सिटी बस चलाने के लिए नौ बार टेंडर निकाले गए, लेकिन पार्टनर नहीं आए। इसके लिए मुख्यमंत्री कमलनाथ को भी पत्र भेजा गया है। एग्रीमेंट किया। 37 करोड़ रुपये हमारे फंड में पड़ा है। स्टापेज बनाने का प्रस्ताव रखा पड़ा हुआ।

dharmendra pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned