शहर के इस कॉलेज में दाखिला लेने वाले विद्यार्थियों को जाने क्यों मिली राहत

जनभागीदारी की बैठक में शासकीय तिलक कॉलेज प्राचार्य ने रखा था प्रस्ताव

By: dharmendra pandey

Published: 24 May 2018, 11:08 AM IST

कटनी. शिक्षण सत्र २०१८-१९ में शासकीय तिलक कॉलेज में दाखिला लेने वाले विद्यार्थियों के लिए राहत भरी खबर है। नए शिक्षण सत्र में कॉलेज प्राचार्य के १०फीसदी फीस बढ़ाने के प्रस्ताव को विधायक ने मंजूरी नहीं दी है। विद्यार्थियों को अब शिक्षण सत्र २०१७-१८ में लगने वाली फीस के आधार पर ही बीए, बीएससी व बीकॉम में दाखिला मिलेगा।
शासकीय तिलक कॉलेज में ३ अप्रैल २०१८ को जनभागीदारी की बैठक हुई थी। इसमें कॉलेज प्राचार्य ने १० प्रतिशत फीस बढ़ाने का प्रस्ताव रखा था। समिति के सदस्यों ने फीस वृद्धि को लेकर विधायक को निर्णय लेने को कहा था। जिसके बाद फाइल विधायक के पास भेजी गई थी। विद्यार्थियों के हित में निर्णय लेते हुए विधायक संदीप जायसवाल ने फीस नहीं बढ़ाने का फैसला लिया और फाइल लौटा दी। कॉलेज प्राचार्य द्वारा १० फीसदी फीस वृद्धि के निर्णय का पत्रिका ने मुद्दा बनाया था। सरकारी कॉलेज में गरीब बच्चों की पढ़ाई होगी महंगी शीर्षक से खबर प्रकाशित की थी। जिसके बाद विधायक ने फीस वृद्धि नहीं करने का फैसला लिया था।

नहीं मिली मंजूरी
जनभागीदारी की बैठक में फीस वृद्धि का प्रस्ताव रखा गया था। विधायक को निर्णय लेना था। उन्होंने फीस बढ़ाने का फैसला नहीं लिया। विद्यार्थियों को पिछले शिक्षण सत्र में लगने वाली फीस के आधार पर ही दाखिला दिया जाएगा।
प्रोफेसर, डॉ. सुनील बाजपेयी, प्रवेश प्रभारी
.........................

जैव विविधता संरक्षण पर दी स्टूडेंट्स को जानकारी
अनुसंधान विस्तार वृत्त जबलपुर के अंतर्गत आने वाली सरसवाही रोपणी में हुआ कार्यशाला का आयोजन
कटनी. मंलगवार को अंतरराष्ट्रीय जैव विविधता दिवस मनाया गया। इस मौके पर अनुसंधान विस्तार वृत्त जबलपुर के अंतर्गत आने वाली सरसवाही नर्सरी में कार्यशाला का आयोजन किया गया। शासकीय तिलक कालेज के प्रोफेसर्स व स्टूडेंट्स को जैव विविधता संरक्षण बिंदुओं पर सैद्धांतिक ज्ञान व प्रयोगात्मक ज्ञान के बारे में जानकारी दी गई। कार्यशाला के दौरान प्रोफेसर पद्मजा शुक्ला, प्रो. ज्योत्सना आठ्या, प्रोफेसर डॉ. सुनील बाजपेयी, अर्जुन सिंह बाजवा रेंज अधिकारी रोपणी सरसवाही, डॉ. नेहा जैन, डॉ. सरदार दिवाकर, प्रणव मिश्रा ने जैव विविधता संरक्षण पर विचार प्रस्तुत किए। इस दौरान सोनाली चढ़ार, शनिदेव, देवकी सोनी, अर्चना, आशीष, संजय, तृप्ति जैन, शरद अग्रवाल डिप्टी रेंजर, निखिल बिचपुरिया सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

Show More
dharmendra pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned