नगर निगम ने कहा काम रोक दो, बिल्डर ने पुलिया पर कर दी ढलाई

नगर निगम ने कहा काम रोक दो, बिल्डर ने पुलिया पर कर दी ढलाई
नगर निगम ने कहा काम रोक दो, बिल्डर ने पुलिया पर कर दी ढलाई

raghavendra chaturvedi | Updated: 08 Jun 2019, 09:18:36 AM (IST) Katni, Katni, Madhya Pradesh, India

दुगाड़ी नाला के समीप बिल्डर द्वारा करवाए जा रहे पुलिया निर्माण के मामले में कलेक्टर ने कहा जांच करवाएंगे।
शहर हो रहे इस निर्माण से सरकारी विभाग के कई कर्मचारियों की भूमिका पर सवाल।

कटनी. दुगाड़ी नाला के समीप सहायक नाला पर बिल्डर द्वारा प्रशासन के नियम कायदे और नोटिस को ताक पर रखकर पुलिया में ढलाई करवा दिया गया। नगर निगम के भवन अनुज्ञा अधिकारी ने 18 मई को मेसर्स स्मूथ कामर्शियल प्राइवेट लिमिटेड के संचालक सुरेश कुमार मित्तल को नोटिस जारी कर कहा कि दुगाड़ी नाला के समीप पुलिया निर्माण पर तत्काल रोक लगा दिया जाए। खासबात यह है कि नगर निगम के नोटिस के बाद पुलिया पर काम जारी रहा और 21 दिन बाद स्थिति यह है कि पुलिया पर काम रोकना तो दूर ढलाई कर काम ही पूरा करवा दिया गया, और नगर निगम के जिम्मेदार आंख मंूदे बैठे रहे। अब कलेक्टर एसबी सिंह इस पूरे मामले की जांच करवाने की बात कह रहे हैं।

 

 

dugadi nala 17 mayPatrika .com/upload/2019/06/08/photo6327640013298313397_4680835-m.jpg">
17 मई को पुलिया पर ढलाई के लिए बिल्डर द्वारा बिछाई गई राड IMAGE CREDIT: Patrika

कलेक्टर कार्यालय से महज तीन सौ मीटर की दूरी पर बिल्डर की मनमानी को लेकर तत्कॉलीन कलेक्टर केवीएस चौधरी ने 24 अप्रैल 2018 को जारी एनओसी रद्र कर 11 फरवरी को जारी निर्देश में निर्माणस्थल को यथास्थिति में लाने के निर्देश नजूल विभाग को दिए थे। कलेक्टर के निर्देश पर नजूल तहसीलदार मुनव्वर खान को कार्रवाई करवानी थी। केवीएस चौधरी के स्थानांतरण के बाद बिल्डर द्वारा मनमाना निर्माण शुरू करवा दिया गया।

 

यह भी पढ़ें: यह है रेल यात्रियों के लिए मुसीबत का रेलवे ट्रैक, जानिए सफर में कैसे परेशान होते हैं यात्री

nagar nigam notice 18 may
18 मई को नगर निगम द्वारा जारी नोटिस जिसमें काम रोकने कहा गया IMAGE CREDIT: Patrika

नगर निगम ने बिल्डर को 18 मई को नोटिस जारी किया था। काम रोकने कहा था। 11 फरवरी को जारी निर्देश में तत्कॉलीन कलेक्टर केवीएस चौधरी ने निर्माणस्थल पर यथास्थिति बनाने के निर्देश दिए थे। यानी जो भी निर्माण हुआ है उसे तोड़ दिया जाए। कलेक्टर के इस निर्देश पर नगर निगम और नजूल विभाग को कार्रवाई करनी थी। इस पर कार्रवाई नहीं हुई और बिल्डर ने काम जारी रखा। 18 मई को कलेक्टर डॉ. पंकज जैन ने नगर निगम को कार्रवाई करने के निर्देश दिए और निगम ने उसी दिन बिल्डर को नोटिस जारी कर काम रोकने कहा।


बिल्डर ने नोटिस को ताक पर पुलिया में ढलाई करवा दी गई। नागरिकों का आरोप है कि प्रशासन की लापरवाही के कारण बिल्डर ने पूरी तरह मनमानी की। पुलिया निर्माण के बाद दुगाड़ी नाला के किनारे की जमीन कटनी-जबलपुर मुख्य मार्ग से जुड़ गया। जाहिर इससे कौडिय़ों की जमीन बेशकीमती हो गई। इस पूरे मामले में नजूल विभाग से लेकर नगर निगम के कर्मचारी हाथ पर हाथ धरे बैठे रहे। कार्रवाई को नोटिस देने तक सीमित रहा और बिल्डर लगतार मनमानी करता रहा। अब कलेक्टर एसबी सिंह इस पूरे मामले की जांच करवाकर ठोस कार्रवाई की बात कह रहे हैं।

 

यह भी रोचक: राज्य सरकार के ट्रांसफर का प्रभाव, जनपद में दो-दो सीइओ, असमंजस में कर्मचारी, सुनें किसकी

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned