पोल और मीटर लगाने के बाद भी इस गांव में नहीं पहुंची बिजली, चिमनी के सहारे गुजारा, देखें वीडियो

- बिजली विभाग की अनदेखी, कटरा में नहीं है बिजली, चिमनी के सहारे होता है गुजारा
- दूसरे गांव के खेतों से जला रहे बिजली, वह भी रात में 8-9 घंटे मिलती है बिजली, 16 घंटे रहती है समस्या
- बहोरीबंद जनपद की ग्राम पंचायत बासन के कटरा बस्ती में गंभीर समस्या

By: balmeek pandey

Published: 21 Dec 2020, 09:43 PM IST

Katni, Katni, Madhya Pradesh, India

कटनी. बहोरीबंद मुख्यालय से महज 11 किलोमीटर दूर ग्राम पंचायत बासन के कटरा बस्ती के लोग मूलभूत सुविधाओं से वंचित हैं। यहां पर अबतक बिजली की समस्या का स्थाई समाधान नहीं हुआ है। कटरा बस्ती के लोग चनपुरा गांव से खेतों के लिए पहुंची लाइन से जुगाड़ कर काम चला रहे हैं। ग्रामीण राजा बाबू, लल्लू पटेल, अनार सिंह, मोतीलाल, आदि ने बताया कि कृषि फीडर के लिए महज 8 से 9 घंटे बिजली मिलती है वह भी रात में। ऐसे में ग्रामीणों को बिजली की गंभीर समस्या का सामना कई वर्षों से करना पड़ रहा है। खेतों में पंप चालू होने पर वोल्टेज भी कम हो जाता है, जिससे समस्या और भी बढ़ जाती है।
ग्रामीणों ने बताया कि यहां पर विद्युत विभाग द्वारा पोल गड़वा दिए गए हैं, कई घरों में मीटर भी लग गए हैं, अबतक कनेक्शन नहीं हुए। ग्रामीणों को चिमनी, लालटेन का सहारा लेना पड़ रहा है। बिजली न होने से बच्चों की न सिर्फ पढ़ाई प्रभावित हो रही है बल्कि कृषि कार्य सहित अन्य कार्यों पर पड़ रहा है। जिम्मेदारों द्वारा ध्यान न दिए जाने से ग्रामीण परेशान हैं। प्रधानमंत्री सड़क भी आधी-अधूरी बनी है, जिससे समस्या हो रहा है।

इन्होंने बताई समस्या
बिजली न होने से हमारी पूरी पढ़ाई प्रभावित हो रही है। लगातार नुकसान हो रहा है। कुल 12 घंटे लाइट कृषि फीडर की रहती है। रात में दो बजे बिजली आती है। चिमनी जलाकर किसी तरह पढ़ाई करते हैं। बीसीए कर रहे बाकल है, पढ़ाई में बहुत दिक्कत है, जिम्मेदार ध्यान नहीं दे रहे।
रश्मि पटेल, छात्रा

बिजली नहीं रहती और मिट्टी का तेल भी नहीं मिल रहा है, ऐसे में पढ़ाई बहुत नुकसान हो रहा है। यहां पर बिजली पहुंचाने कोई भी जिम्मेदार ध्यान नहीं दे रहे। ढिबरी से किसी काम चल रहा है। ग्रामीण परेशान हैं, लेकिन बिजली विभाग व जिला प्रशासन के अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे।
वर्षा पटेल, स्थानीय निवासी।

इनका कहना है
कटरा गांव में बिजली की गंभीर समस्या है। कई बार पंचायत से प्रस्ताव बनाकर भेजा गया है, लेकिन बिजली अभी तक नहीं पहुंची। ग्रामीण परेशान हैं।
अरविंद जैन, जीआरएस, बासन।

गांव में बिजली क्यों नहीं पहुंची इसकी जानकारी नहीं है। अभी हम बाहर हैं। सोमवार को दिखवाते हैं, कटरा गांव में क्या समस्या है।
डीके सोनी, डीइ ग्रामीण।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned