बाहर से आने वालों को रहना होगा 14 दिन आइसोलेट, नहीं माने तो पंचायत व हॉस्टल में होंगे क्वॉरंटीन

निगरानी के लिए 80 लोगों की टीम, लापरवाही पर कार्रवाई भी होगी.

By: raghavendra chaturvedi

Published: 24 Jul 2020, 11:52 AM IST

कटनी. कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए अब बाहर से आने वाले प्रत्येक व्यक्ति पर नजर रखी जाएगी। गांव से लेकर शहर तक सूचना तंत्र को मजबूत किया जाएगा और संबंधित व्यक्ति को 14 दिन तक आइसोलेट रहना होगा। इस बीच अगर पता चला कि बाहर से आने वाले व्यक्ति होम आइसोलेशन का गंभीरता से पालन नहीं कर रहे हैं तो प्रशासन उसे पंचायत भवन, हॉस्टल व दूसरे सरकारी संस्थान में शासकीय कर्मचारियों की निगरानी में क्वॉरंटीन करेगा।

खासबात यह है कि इसके लिए जिले के प्रत्येक विकासखंड में रैपिड रिस्पांस टीम गठित की गई है। इसमें 80 कर्मचारियों को शामिल किया गया है। टीम को एसडीएम, तहसीलदार लीड करेंगे और सभी विभागों के कर्मचारी अपनी सूचना तंत्र को मजबूत कर बाहर से आने वाले लोंगो की जानकारी साझा करेंगे।

कलेक्टर एसबी सिंह बताते हैं कि कोरोना संक्रमण रोकने के लिए बाहर से आने वालों की पहचान और उन्हे क्वॉरंटीन करवाना जरूरी है। इसके लिए जिलेभर में 80 कर्मचारियों की टीम बनाई है। टीम के सदस्यों ने कार्य के प्रति लापरवाही बरती तो उन पर भी कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान जनता को भी समझाइश दी जाएगी उनके आसपास कोई कोरोना एहतियात का पालन नहीं कर रहा है तो जानकारी दें।

यह भी जानें
- आरआरटी के सदस्य 24 घंटे अपने क्षेत्र में क्रियाशील रहकर प्रतिदिन की रिपोर्ट कोरोना कन्ट्रोल रूम को देंगे।
- टोटल लॉकडाउन का पालन कराना भी आरआरटी की प्रमुख जिम्मेदारी होगी। नियम तोडऩे वालों की जानकारी देंगे।
- आरआरटी के साथ एमएमयू टीमें मैपिंग की गई हैं। जो आवश्यकता अनुसार संदिग्धजनों के सैम्पल लेगी। सार्थक एप और सार्थक लाईट एप की पात्रतानुसार 24 घंटे के भीतर एन्ट्री कराएगी।

Corona virus
raghavendra chaturvedi Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned