105 दिन बाद आयोजित हुई टीएल बैठक, मास्क लगाना भूले कलेक्टर

फिजिकल डिस्टेंसिंग के बीच जिला स्तर के दूसरे अधिकारी मास्क लगाकर बैठे, छाया रहा सीएम हेल्पलाइन में लंबित 4 हजार से ज्यादा प्रकरणों का मुद्दा.

By: raghavendra chaturvedi

Published: 30 Jun 2020, 12:05 PM IST

कटनी. कोरोना संकट काल में 105 दिन बाद कलेक्ट्रेट सभागार में टीएल मीटिंग हुई तो जिला स्तर के सभी अधिकारी मास्क लगाकर बैठे। इस बीच कलेक्टर एसबी सिंह ही मास्क लगाना भूल गए। इससे पहले 16 मार्च को टीएल मीटिंग हुई थी। इसके बाद 22 मार्च को जनता कफ्र्यू और उसके बाद लगातार लॉकडाउन से बैठक आयोजित नहीं हो सकी। 29 जून की बैठक में तहसील स्तर के अधिकारियों को नहीं बुलाया गया, ये अधिकारी वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से ही बैठक में शामिल हुए।

फिजिकल डिस्टेंसिंग में बैठे अधिकारियों के बीच टीएल मीटिंग में सीएम हेल्पलाइन में लंबित प्रकरणों का मुद्दा छाया रहा। बतादें कि जिले में सीएम हेल्पलाइन में 4 हजार 455 लंबित हैं। इसमें एल-वन स्तर में 1353, एल-2 में 568, एल-3 में 628 और एल-4 में 1906 प्रकरण शामिल हैं। जिन विभागों के प्रकरण ज्यादा लंबित हैं, उनमें पंचायती राज विभाग में 466 और राजस्व में 410 लंबित हैं।

टीएल मीटिंग में कलेक्टर एसबी सिंह ने सीएम हेल्पलाईन में 500 दिवस, 300 दिवस और 100 दिवस से लंबित प्रकरणों को प्राथमिकता से निराकरण करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि सीएम मॉनिट की 2, सीपीजीआर पोर्टल के 219 और समय सीमा के 67 प्रगतिरत प्रकरणों का निराकरण भी शीघ्र करें।

कलेक्टर ने जिला प्रमुखों से कहा कि टीएल मीटिंग का निराकरण करने के लिए विभाग में अलग से सेल गठित करें। इसमें शामिल कर्मचारियों को जवाबदारी सौंपी जाए कि वे सीएम हेल्पलाइन में दर्ज होने वाले प्रकरणों का समय पर निराकरण करें।

बैठक में अपर कलेक्टर साकेत मालवीय, सीइओ जिला पंचायत जगदीश चंद्र गोमे, नगर निगम आयुक्त आरपी सिंह, डिप्टी कलेक्टर नदीमा शीरी, संघमित्रा गौतम, उद्योग महाप्रबंधक अजय श्रीवास्तव, पीडब्ल्यूडी इइ हरि सिंह, जलसंसाधन इइ आरके खुराना, पीएचइ इइ इएस बघेल सहित अन्य अधिकारी शामिल रहे।

raghavendra chaturvedi Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned